इस मैच में हुई राफेल नडाल की यह शानदार जीत

इस मैच में हुई राफेल नडाल की यह शानदार जीत

स्पेनिश दिग्गज राफेल नडाल ने अपने रिकॉर्ड 21वां ग्रैंडस्लैम पुरूष एकल खिताब जीतने की तरफ एक कदम और भी बढ़ा चुके है। नडाल ने मंगलवार को क्वार्टर फाइनल मुकाबले में डेनिस शापोवालोव को 4 घंटे के मैराथन मुकाबले में पांच सेट में हराकर 7वीं बार आस्ट्रेलियाई ओपन के सेमीफाइनल में हिस्सा ले लिया है। नडाल ने क्वार्टर फाइनल में 14वीं वरीयता प्राप्त शापोवालोव पर 6-3, 6-4, 4-6, 3-6, 6-3 से जीत हासिल कर ली है। पहले दो सेट में हावी रहने के  उपरांत तीसरे और चौथे सेट में पेट की गड़बड़ी की वजह से उनकी लय टूटी लेकिन निर्णायक सेट जीतकर उन्होंने अंतिम 4 में स्थान बना लिया है।

नडाल यहां सिर्फ एक बार 2009 में खिताब जीत सके हैं और बीते 13 में से 7 बार क्वार्टर फाइनल में हार चुके है। अब सेमीफाइनल शुक्रवार को होने वाला है यानी उन्हें दो दिन का विश्राम मिल जाएगा। सेमीफाइनल में उनका सामना 7वीं वरीयता प्राप्त माटियो बेरेटिनी से होने वाला है। विंबलडन के उपविजेता और 7वीं  रैंकिंग बेरेटिनी ने एक अन्य मैराथन मुकाबले में 17वीं वरीयता प्राप्त गेल मोनफिल्स को 6-4, 6-4, 3-6, 3-6, 6-2 से भी मात दी है। वह आस्ट्रेलियाई ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाले इटली के पहले खिलाड़ी बन चुके है। 

महिला वर्ग में मंगलवार को खेले गये दोनों क्वार्टर फाइनल मैच का निर्णय सीधे सेटों में किया गया है। दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी एश्ले बार्टी ने 21वीं वरीयता प्राप्त जेसिका पेगुला को 6-2, 6-0 से जबकि मेडिसन कीज ने फ्रेंच ओपन चैंपियन बारबोरा क्रेसीकोवा को 6-3, 6-2 से पराजित किया जा चुका है। बार्टी बीते  3 सालों में दूसरी बार आस्ट्रेलियाई ओपन के सेमीफाइनल में पहुंची है। कीज 7 वर्ष के उपरांत मेलबर्न पार्क में अंतिम 4 में पहुंची है। विंबलडन 2021 की चैंपियन बार्टी 1978 के उपरांत आस्ट्रेलियाई ओपन जीतने वाली पहली आस्ट्रेलियाई महिला बनने के प्रयास में लगी हुई है। अब उनका सामना मेडिसन कीज से होगा। बार्टी 2020 में सेमीफाइनल में सोफिया केनिन से हार गई थी।


लखनऊ सुपर जाएंट्स ने किया क्वालीफाई

लखनऊ सुपर जाएंट्स ने किया क्वालीफाई

क्विंटन डिकॉक की बेजोड़ शतकीय पारी और मार्कस स्टोइनिस के अंतिम दो गेंदों पर दो विकेट की सहायता से लखनऊ सुपर जायंट्स ने बुधवार को कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) पर दो रन की रोमांचक जीत दर्ज करके आईपीएल में फिर से दूसरा जगह हासिल किया. लखनऊ ने पिछले दो मुकाबलों की हार को पीछे छोड़ते हुए 20 ओवर में बिना कोई विकेट खोये 210 रन  का विशाल स्कोर बनाया और कोलकाता की कड़ी चुनौती को 20 ओवर में आठ विकेट पर 208 रनों पर थाम  लिया. लखनऊ की 14 मैचों में यह नौंवीं जीत रही और वह 18 अंकों के साथ तालिका में दूसरे नंबर पर पहुंच गया है जबकि कोलकाता को 14 मैचों में आठवीं हार का सामना करना पड़ा और वह 12 अंकों पर ही रह गया. 

डिकॉक ने तीन बार जीवनदान मिलने के बाद 70 गेंदों पर नाबाद 140 रन बनाये जो उनके टी20 करियर का सर्वोच्च स्कोर है. इस दक्षिण अफ्रीकी विकेटकीपर बल्लेबाज ने इस बीच 10 छक्के और इतने ही चौके लगाये. राहुल ने 51 गेंदों पर तीन चौकों और चार छक्कों की सहायता से नाबाद 68 रन की पारी खेली. इससे लखनऊ ने पहले बल्लेबाजी करते हुए बिना किसी हानि के 210 रन का विशाल स्कोर बनाया. इसके उत्तर में केकेआर ने आठ विकेट पर 208 रन बनााये. उसके लिये कप्तान श्रेयस अय्यर (29 गेंदों पर 50 रन, चार चौके, तीन छक्के), नितीश राणा (22 गेंदों पर 42 रन, नौ चौके) और सैम बिलिंग्स (24 गेंदों पर 36 रन, दो चौके, तीन छक्के) ने रन बनाये लेकिन कोई भी अपनी पारी लंबी नहीं खींच पाया.

संबंधित खबरें

लेकिन रिंकू सिंह (15 गेंदों पर 40 रन, दो चौके, चार छक्के) और सुनील नारायण (सात गेंदों पर नाबाद 21, तीन छक्के) ने अंतिम क्षणों में केकेआर को जीत के करीब पहुंचा दिया. जब केकेआर को दो गेंदों पर तीन रन की दरकार थी तब स्टोइनिस (दो ओवर में 23 रन देकर तीन) ने इविन लुईस के बहुत बढ़िया कैच की सहायता से रिंकू और फिर उमेश यादव को आउट करके बाजी पलटी. मोहसिन खान ने भी 20 रन देकर तीन विकेट लिये.

लखनऊ ने इस तरह से जीत से लीग चरण के अपने अभियान का अंत किया. उसके नौ जीत से 18 अंक हैं. केकेआर की यह 14 मैचों में आठवीं हार थी जिससे वह टूर्नामेंट से बाहर भी हो गया. डिकॉक और राहुल ने आईपीएल में पहले विकेट के लिये सबसे बड़ी और कुल तीसरी सर्वोच्च साझेदारी की. आईपीएल में यह पहला अवसर है जबकि पहले बल्लेबाजी करने वाली किसी टीम ने पूरे 20 ओवर में कोई विकेट नहीं गंवाया.     
इसके उल्टा केकेआर ने वेंकटेश अय्यर (शून्य) का विकेट पहले ओवर में ही गंवा दिया. मोहसिन ने उन्हें डिकॉक के हाथों कैच कराने के बाद अपने अगले ओवर में दूसरे सलामी बल्लेबाज अभिजीत तोमर (चार) को भी चलता किया जिनका कैच राहुल ने लिया. राणा ने आवेश खान के पहले ओवर में पांच चौके लगाये तो श्रेयस ने जेसन होल्डर पर दो चौके और एक छक्का लगाकर बिल्कुल से पारी का स्वरूप बदल दिया. राणा ने ऑफ स्पिनर कृष्णप्पा गौतम का स्वागत भी तीन चौकों से करके पावरप्ले में टीम का स्कोर 60 रन पर पहुंचाया, लेकिन उन्होंने इसी गेंदबाज के अगले ओवर में लांग ऑफ पर आसान कैच थमा दिया.

राणा की स्थान उतरे बिलिंग्स ने आवेश पर एक छक्का और दो चौके लगाये जबकि श्रेयस ने 11वें ओवर की पहली गेंद पर चौका जमाकर केकेआर का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया. बिलिंग्स ने रवि बिश्नोई के इस ओवर में छक्का लगाया जिससे राहुल और डिकॉक को आपस में मंत्रणा करने के लिये विवश होना पड़ा. 

मोहसिन ने ऐसे में 13वें ओवर में सिर्फ दो रन देकर लखनऊ को कुछ राहत पहुंचायी जबकि स्टोइनिस ने अगले ओवर में श्रेयस को धीमी गेंद पर गच्चा देकर कैच कराया जिन्होंने इससे पहले 28 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया था. इससे बिलिंग्स के साथ उनकी 66 रन की साझेदारी का भी अंत हुआ. बिलिंग्स को भी इसके बाद बिश्नोई ने गुगली पर गच्चा दे दिया था.

मोहसिन ने आंद्रे रसेल (पांच) को आउट करके केकेआर आशा समाप्त कर दी, लेकिन यहां से रिंकू का जलवा दिखा. केकेआर को अंतिम ओवर में 21 रन की दरकार थी. रिंकू ने स्टोइनिस की पहली तीन गेंदों पर दो छक्के और एक चौका लगाया लेकिन लुईस ने लंबी दौड़ लगाकर उनका बहुत बढ़िया कैच लेकर पासा पलट दिया.इससे पहले राहुल और डिकॉक ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिये उतरी लखनऊ की टीम को बहुत अच्छी आरंभ दिलायी. इन दोनों ने पावरप्ले में 44 रन जोड़े. डिकॉक जब 12 रन पर थे तो अभिजीत तोमर ने उनका कैच छोड़ा जिसका उत्सव उन्होंने उमेश यादव पर छक्का जड़कर मनाया. राहुल ने भी इस गेंदबाज के अगले ओवर में गेंद छह रन के लिये भेजी.डिकॉक ने आंद्रे रसेल का स्वागत छक्के से किया तो राहुल ने टिम साउदी पर लगातार दो छक्के जड़कर अपने आक्रामक तेवरों का खुलकर प्रदर्शन किया और इस बीच वर्तमान सत्र में अपनी रन संख्या 500 के पार पहुंचायी. डिकॉक ने 36 गेंदों पर अपना पचासा पूरा किया और सुनील नारायण पर छक्का लगाकर 13वें ओवर में टीम का स्कोर तिहरे अंक में पहुंचाया. उन्होंने नारायण की गेंद पर एक और जीवनदान पाने के बाद केकेआर को इसकी सजा वरुण चक्रवर्ती पर दो छक्के और एक चौका लगाकर दी. इस बीच राहुल ने 41 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया.
 डिकॉक ने अब रसेल को निशाने पर रखा तथा उन पर पहले छक्का और फिर चौका लगाकर आईपीएल में अपना दूसरा शतक पूरा किया जिसके लिये उन्होंने 59 गेंदें खेली. उन्होंने साउदी पर लगातार तीन छक्के लगाने के बाद रसेल पर लगातार चार चौके लगाये. इस बीच उन्हें तीसरी बार जीवनदान भी मिला.