जब बीबी ने लगाया मर्डर का आरोप तो पुलिस को मजबूरन तीन महीने बाद कब्र से निकाला शव

जब बीबी ने लगाया मर्डर का आरोप तो पुलिस को मजबूरन तीन महीने बाद कब्र से निकाला शव

ओडिशा के बारगढ़ जिले में एक महिला की इस शिकायत पर उसके पति के मृत शरीर को उसकी मृत्यु के तीन महीने बाद खोदकर कब्र से निकाला गया व पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया कि राजनीतिक कारणों से उसकी मर्डर कर दी गयी थी.

एक पुलिस ऑफिसर ने बताया कि दिल तांडी (52) की मृत्यु की सटीक वजह का पता लगाने के लिए बृहस्पतिवार को पुलिस वप्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में उसका मृत शरीर निकाला गया.अधिकारी ने कहा, '' मेलच्छामुंडा थानाक्षेत्र के अमामुंडा गांव का दिहाड़ी मेहनतकश तांडी कथित रूप से शराब पीने से 18 अप्रैल को बीमार पड़ गया था व उसे बारगढ़ जिला मुख्यालय अस्पताल ले जाया गया था. जब उसकी संभवत: स्थिति बेहतर हो गयी तब उसके परिवार ने उन्हें घर लाने का निर्णय किया लेकिन रास्ते में उसने दम तोड़ दिया.

उन्होंने बताया कि उसके परिवार ने गांव में कब्रिस्तान में उसे दफना दिया. लेकिन उस समय कोई अंत्यपरीक्षण नहीं किया गया.मेलच्छामुंडा थाना की प्रभारी स्वप्नरानी गोछायत ने बताया कि टांडी की विधवा ने बुधवार को पुलिस में शिकायत की कि उसके पति को जहरीली शराब पिलायी गयी जिसके बाद उसकी मृत्यु हो गयी. उसका आरोप था कि उसके पति की राजनीतिक कारणों से मर्डर की गयी.

गोछायत ने कहा, ''महिला ने दावा किया कि वह टांडी की मृत्यु के तत्काल बाद इसलिए शिकायत दर्ज नहीं कर पायी क्योंकि वह गहरे मानसिक तनाव में थीं. प्रारंभिक जाँच में सामने आया कि तांडी का कोई राजनीतिक संबंध नहीं था लेकिन पुलिस अंत्यपरीक्षण रिपोर्ट सामने आने के बाद ब्योरा दे पायेगी.