बहुत जल्द कप्तानी छोड़ क्रिकेट को अलविदा कह सकते हैं ये खिलाड़ी...

बहुत जल्द कप्तानी छोड़ क्रिकेट को अलविदा कह सकते हैं ये खिलाड़ी...

इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड के विरूद्ध सुपरओवर में जीत हासिल कर पहली बार वर्ल्ड कप अपने नाम किया। क्रिकेट के जनक इस देश को अपने नाम के आगे वर्ल्ड चैंपियन का तमगा लगवाने में 48 वर्ष लग गए। हालांकि इंग्लैंड के आयरिश कैप्टन ऑयन मॉर्गन ने उसका ये सपना पूरा कर दिया व टीम ने उनकी अगुआई में लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर ये उपलब्धि हासिल की।

अब जबकि ऑयन मॉर्गन ने क्रिकेट की किताब के सुनहरे पन्नों पर अपना नाम दर्ज करा लिया है तो उनके भविष्य को लेकर भी अटकलों का मार्केट गर्म हो गया है। इंग्लैंड के पूर्व कैप्टन एंड्रयू स्ट्रॉस ने तो कप्तानी के विकल्प के तौर पर बड़ी मजबूती से जोस बटलर का नाम सामने रख दिया है। उनका मानना है कि मॉर्गन के कप्तानी छोड़ने के बाद बटलर टीम को आगे लेकर जाने की क्षमता रखते हैं। अब खुद मॉर्गन ने भी इस बात के इशारा दे दिए हैं कि वे 2023 में हिंदुस्तान में होने वाले वर्ल्ड कप में टीम के कैप्टन नहीं रहेंगे व उन्होंने अभी भविष्य पर निर्णय नहीं किया है।

मॉर्गन ने बोला कि मैंने अभी इस बात का निर्णय नहीं किया है कि मैं वर्ल्ड कप जीतने के बाद सीमित ओवर प्रारूप में इंग्लैंड का कैप्टन बना रहूंगा या नहीं। अगर मैं कहूं कि 2023 तक खेलना जारी रखूंगा तो ये बड़ा कमिटमेंट होगा। हालांकि अगले वर्ष होने वाले टी-20 दुनिया कप तक ऐसा करना अधिक तर्कसंगत लगता है। मुझे नहीं लगता कि मैं अभी इस पर कोई फैसला लेने की स्थिति में हूं।

माना जा रहा है कि मॉर्गन जल्द कप्तानी छोड़ सकते हैं व अगर उन्होंने ऐसा किया तो इस बात की आसार बेहद कम है कि वे बतौर बल्लेबाज टीम के साथ जुड़े रहें। ऐसी स्थिति में वो कप्तानी छोड़ने व अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने का निर्णय एकसाथ कर सकते हैं। उम्मीद यही है कि मॉर्गन टी-20 वर्ल्ड कप के बाद अगले वर्ष इस खेल को अलविदा कह देंगे।

2015 में ग्रुप स्टेज से बाहर हो गया था इंग्लैंड
इंग्लैंड की टीम को 2015 के वर्ल्ड कप में शर्मनाक प्रदर्शन के चलते ग्रुप स्टेज से बाहर होना पड़ा था। उसके बाद से ऑयन मॉर्गन की कप्तानी में टीम ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए 2019 वर्ल्ड कप अपने नाम किया।