केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने कही ये बात, जानकर लोग हुए हैरान

केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने कही ये बात, जानकर लोग हुए हैरान

केन्द्र सरकार कश्मीर पर लिए अपने निर्णय पर अडिग है. सरकार व भाजपा इसे प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी का सबसे बड़ा कदम मानते हैं.

इस मामले पर आम लोग तक अपनी बात पहुंचाने के लिए सरकार देशभर में जनजागरण अभियान चला रही है. इसी सिलसिले में केंद्रीय पशुपालन प्रदेश मंत्री प्रताप सारंगी उड़ीसा में थे. सारंगी अपने बयानों को लेकर अक्सर सुर्खीयों में रहते हैं. उनके एक बयान से फिर टकराव पैदा हो गया है. उन्होंने बोला कि जो लोग वंदे मातरम बोलना स्वीकार नहीं कर सकते, उन्हें हिंदुस्तान में रहने का कोई अधिकार नहीं है.

सारंगी ने इस दौरान बोला कि, जब बीजेपी के विरोधी दलों ने पीएम नरेंद्र मोदी के अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के निर्णय का समर्थन किया है, तो कांग्रेस पार्टी ने इस पर असहमति जताई थी.

अमित शाह ने कांग्रेस पार्टी नेताओं को स्पष्ट कर दिया है कि अधीन कश्मीर व सियाचिन भी हिंदुस्तान का भाग है. केंद्रीय मंत्री सारंगी ने बताया, जो लोग वंदे मातरम को नहीं स्वीकारते उन्हें हिंदुस्तान में रहने का कोई अधिकार नहीं है.यह सुनिश्चित करते हुए कि अनु्च्छेद 370 को हटाने का कदम 72 वर्ष पहले लिया जाना चाहिए था.

यह नरेन्द्र मोदी सरकार है जिसने 72 वर्ष बाद कश्मीर में लोगों को सभी अधिकार दिए हैं. वर्तमान में, जम्मू व कश्मीर में माहौल पूरी तरह से शांतिपूर्ण है. बालासोर से सांसद सारंगी ने बोला कि, जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 के हटाए जाने के बाद टुकडे-टुकडे गैंग व आतंकियों के समर्थक सबसे ज्यादा आहत हैं. सारंगी ने बोला कि पूरी संसार ने धारा 370 पर देश को समर्थऩ किया है.