अलसी के बीज का उपयोग करने से नहीं होती है ये बीमारी

अलसी के बीज का उपयोग करने से नहीं होती है ये बीमारी

फ्लैक्स सीड्स स्वास्थ्य का खजाना है इसका उपयोग सीड साइकिलिंग में भी किया जाता है इसके लाभों के कारण ये कई बीमारियों में वरदान साबित हुआ है.

Image result for अलसी के बीज

फ्लैक्स सीड्स मेंहेल्दी फैट, एंटीऑक्सिडेंट व फाइबर का एक रिच सोर्स है. इसके बीज में प्रोटीन, लिग्नन्स व आवश्यक फैटी एसिड जैसे, अल्फा-लिनोलेनिक एसिड होता है, जो ओमेगा -3 के रूप में भी जाना जाता है.

फ्लेक्स सीड के पोषक तत्व मधुमेह, कैंसर व दिल रोग जैसे कई गंभीर रोगों के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं. ये सबसे पुरानी फाइबर फसलों में से एक है. प्राचीन मिस्र व चाइना में इसकी खेती की जाती थी. एशिया में इसका इस्तेमाल आयुर्वेदिक चिकित्सकों ने दवा के रूप में किया है. फ्लैक्स सीड्स बाजार में सीड, तेल, पाउडर, टैबलेट, कैप्सूल व आटे के रूप में भी सरलता से मिल जाती है.

सेहत को जीवनदान देने के बारे में बात करे तोफ्लेक्स सीड का सेवन करने से शरीर में पोषक तत्व अच्छे से एब्जॉर्ब होने लगते हैं. फ्लेक्स सीड खाने के फायदे हैं तो नुकसान भी कम नहीं. अधिक खाने के भी नुकसान हैं व कुछ समस्याओं में फ्लेक्स सीड खाना मर्ज को बढ़ा सकता है. इसलिए जब भी आप फ्लैक्ससीड्स खाएं. इसके खाने के ढंग को जरूर जान लें.

फ्लेक्स सीड फाइबर रिच है. इसमें हाई लेवल का म्यूसीजियम गम पाया जाता जो एक कारागार के रूप में फाइबर बनाता है. ये पानी में सरलता से घुल जाता है. यही कारण है कि ये आंतों के लिए बहुत अच्छा होता है. म्यूसीज पेट में खाने को छोटी आंत से बहुत जल्दी से खाली करने से बचाता है, जिससे खाने के सारे पोषक तत्व शरीर सरलता से सोख लेता है. साथ ही ये शरीर को डिटॉक्स करने में भी बेहतर कार्य करता है.

फ्लैक्स सीड्स में हेल्दी फैट होते हैं व ये फाइबर से भी भरा होता है. ऐसे में जब इसे खाया जाता है तो पेट लंबे समय तक भराह महसूस होता है. इससे कैलोरी का इंटेक कम होता है वेट लॉस होने लगता है. इसके आलवा इसमें पाई जाने वाली एएलए फैट भी शरीर के सूजन को कम करने में हेल्प करता है.