ट्रेन में कुत्ते को अपने साथ ले जाने वाले यात्रियों को अब देने होंगे इतने ह़जार रूपए

ट्रेन में कुत्ते को अपने साथ ले जाने वाले यात्रियों को अब देने होंगे इतने ह़जार रूपए

ट्रेन में कुत्ते को अपने साथ ले जाने वाले यात्रियों के लिए रेलवे ने थोड़ी मुश्किलें बढ़ा दी हैं. ट्रेन में कुत्त साथ ले जाने वाले यात्रियों को अब फर्स्ट क्लास का पूरा कूपा बुक कराना होगा.

Image result for ट्रेन में कुत्ते को अपने साथ ले जाने वा

रेलवे कुत्तों के शौकीन यात्रियों को यह सुविधा दे रहा है. इसके लिए फर्स्ट क्लास एसी कोच में कूपा(दो एवं चार बर्थ वाला) उस यात्री के नाम बुक होना महत्वपूर्णहै, जो कुत्ते को अपने साथ ले जाना चाहता है.

रेलवे बोर्ड की ओर से जारी यह आदेश 28 जून को दक्षिण-पूर्व जोन में आया है. हालांकि इसके बावजूद पार्सल से कुत्ते की बुकिंग कराने का पुराना प्रावधान कायम है.

बता दें, भारतीय रेलवे आपके पालतू जानवरों को लंबी दूरी की यात्रा के लिए सबसे अच्छे साधनों में एक माना जाता है. यह सुरक्षित, सस्ती है, सरल व छोटे, बड़े, सभी प्रकार के जानवरों को अनुमति देता है. यह जानवरों के लिए बहुत सुविधाजनक है क्योंकि यह यात्रा के दौरान कई ब्रेक भी लेता है, अच्छी तरह हवादार है व इसमें डिब्बों को नामित किया गया है जहां पालतू परिवार या एक पर्सनल पालतू माता-पिता के साथ रह सकते हैं.

ट्रेन में कुत्तों के लिए नियम व शर्तें

1. एक यात्री लैब्राडोर, बॉक्सर, जर्मन शेफर्ड जैसे छोटे या बड़े कुत्तों को अपने साथ ले जा सकता है, लेकिन केवल एसी फर्स्ट क्लास या फर्स्ट क्लास में. इसके लिए यात्री को ट्रेन में सारेडिब्बे को बुक करना होगा.

2. फर्स्ट एयर कंडिशन क्लास या फर्स्ट क्लास में यात्रा करने वाला यात्री उपरोक्त आरोपों के भुगतान पर साथी यात्रियों की सहमति से एक कुत्ते को डिब्बे में ले जा सकता है. शुल्क प्रीपेड हैं. यदि साथी यात्री बाद में डिब्बे में बचे हुए कुत्ते पर असहमति जताते हैं, तो उसे गार्ड की वैन में हटा दिया जाएगा, कोई भी वापसी नहीं दी जाएगी.

3. छोटे कुत्तों के लिए, अन्य डिब्बों में डॉग बॉक्स होते हैं जहाँ आप रु. से प्रारम्भ होने वाले न्यूनतम शुल्क का भुगतान कर सकते हैं. 10 पशु के वजन व कैरी के अनुसार.

4. यात्री आपके कुत्ते के लिए बुकिंग करने के लिए पार्सल ऑफिस से सम्पर्क कर सकते हैं.

5. यात्रा के दौरान मालिकों को कुत्ते के लिए पानी व भोजन की अपनी व्यवस्था करनी चाहिए.