शर्मनाक प्रदर्शन’ के कारण अमरिंदर सिंह की नाराजगी का शिकार हुए सिद्धू

शर्मनाक प्रदर्शन’ के कारण अमरिंदर सिंह की नाराजगी का शिकार हुए सिद्धू

2019 लोकसभा चुनाव के दौरान पंजाब के शहरी क्षेत्रों में कांग्रेस पार्टी के ‘शर्मनाक प्रदर्शन’ के कारण सीएम अमरिंदर सिंह की नाराजगी का शिकार हुए कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू चुनाव के बाद हुई पहली मंत्रिमंडल की मीटिंग में गुरुवार को शामिल नहीं हुए . इसके बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने कैबिनेट सहयोगी नवजोत सिंह सिद्धू के पंख कतरते हुए गुरुवार की दोपहर को लोकल निकाय विभाग से हटा दिया है.

यह निर्णय क्रिकेट से सियासत में आए नवजोत सिंह सिद्धू की ओर से मंत्रिमंडल की मीटिंग में न जाने व प्रेस बातचीत कर अमरिंदर सिंह के विरूद्ध बोलने के बाद किया गया है.मुख्यमंत्री अमरिंदर की ओर से गवर्नर को सिद्धू से लोकल निकाय विभाग से हटाने की सलाह देने के कुछ मिनट बाद सिद्धू ने प्रेस वालों से बोला था कि- “मुझे हल्के में नहीं लिया जा सकता है मैं पंजाब की जनता के प्रति जवाबदेह हूं.” कैप्टन अमरिंदर ने इस विभाग को अभी अपने पास ही रखने का फैसला लिया है.

हालांकि, सिद्धू के पास पर्यटन एवं संस्कृति मंत्रालय का प्रभार है. वे कैबिनेट मंत्री भी रहेंगे. किन्तु, अमरिंदर सिंह की ओर से लोकल विभाग छीनना सिद्धू के लिए एक कठोर संदेश है.इससे पहले, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंद सिंह के साथ गहराते टकराव के इशारा के बीच गत माह समाप्त हुए लोकसभा चुनाव के बाद गुरुवार को बुलाई गई पहली मंत्रिमंडल की मीटिंग में लोकल निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू नहीं पहुंचे.