करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पाक ने भारत से कहा ये...

 करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पाक ने भारत से कहा ये...

भारत व पाक के बीच करतारपुर कॉरिडोर को लेकर रविवार को दूसरी वार्ता हुई. विदेश मंत्रालय ने बोला कि पाक ने भरोसा दिलाया है कि हिंदुस्तान के विरूद्ध किसी भी गतिविधि में कॉरिडोर का प्रयोग नहीं होने देंगे.

Image result for करतारपुर कॉरिडोर को

विदेश मंत्रालय ने बताया कि हिंदुस्तान ने पाक से अपील की है कि हर दिन करतारपुर साहिब कॉरिडोर में 5000 श्रद्धालुओं को जाने की अनुमति मिले. इसके अतिरिक्त किसी विशेष त्योहार पर 10 हजार अलावा श्रद्धालुओं को अनुमति मिले. हिंदुस्तान ने पाक से बोला कि केवल हिंदुस्तानियों को ही नहीं, बल्कि ओसीआई कार्ड धारक भारतीय मूल के लोगों को भी कॉरिडोर के प्रयोग की अनुमति मिले.

वाघा बॉर्डर पर हुई बैठक

बैठक के लिएदोनोंदेशों के 20-20 अधिकारी वाघा बॉर्डर पहुंचे. भारतीय प्रतिनिधि मंडलकी अगुआई गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव एससीएल दास औरपाकिस्तानी दल की अगुआई विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डाक्टर मोहम्मद फैसल ने की.बैठक से पहले फैसल ने बोला कि पाक इस कॉरिडोर के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है. गुरुद्वारे का70% से ज्यादा कार्य पूरा हो चुका है.

मोदी सरकार की सत्ता में वापसी के बाद यह पहली व अब तक पाक के साथ दूसरेदौर की बातचीत है. इससे पहले 14 मार्च को दोनों राष्ट्रों के प्रतिनिधियों ने ड्राफ्ट एग्रीमेंट को अंतिम रूप दिया था. हिंदुस्तान कॉरिडोर के निर्माण पर 500 करोड़ रुपए खर्च करेगा. इसके जरिए श्रद्धालुओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हाईटेक सिक्युरिटी, सर्विलांस सिस्टम, 5000 से लेकर 10 हजार श्रद्धालुओं के ठहरने के बंदोवस्त किए जाएंगे.

पाकिस्तान ने खालिस्तान समर्थक को बातचीत कमेटी से हटाया

करतारपुर कॉरिडोर पर बातचीत से एक दिन पहले पाक ने खालिस्तान समर्थक गोपाल सिंह चावला को अपनी कमेटी से हटा दिया. हिंदुस्तान ने चावला के बातचीत कमेटी में होने पर असहमति जताई थी. इमरानसरकार ने शुक्रवार को बोला कि हमें पाक सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (पीएसजीपीसी) का पुनर्गठन किए जाने पर खुशी है. नयी कमेटी में चावला का नाम नहीं है. इसके बाद हिंदुस्तान ने बोला कि इससे दोनों राष्ट्रों के बीच कॉरिडोर को लेकर गतिरोध समाप्त करने में मदद मिलेगी. अब पाक के साथ दूसरे दौर की बातचीत में करतारपुर के मामले सुलझाए जा सकेंगे.