नेपाल के पीएम से विदेश मंत्री एस। जयशंकर ने की मुलाकात, जानिए ये है वजह

नेपाल (Nepal) व हिंदुस्तान ने साझेदारी व योगदान के एक नए युग में प्रवेश पर सहमति जताई है। नेपाल (Nepal) के पीएम के। पी। शर्मा ओली व हिंदुस्तान के विदेश मंत्री एस। जयशंकर ने द्विपक्षीय योगदान बढ़ाने व संबंधों को नयी ऊंचाइयों पर ले जाने पर सहमति जताई है।

काठमांडू पोस्ट ने बुधवार को हुई मीटिंग के बारे में जानकार सूत्रों के हवाले से बताया कि जयशंकर ने पीएम ओली से पीएम नरेंद्र मोदी का संदेश पहुंचाने के लिए मुलाकात की, जिसमें "दोनों राष्ट्रों द्वारा सियासी स्थिरता प्राप्त करने के बाद नए सिरे से द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ाने की ख़्वाहिश जाहीर की गई है। "

अघिकारियों ने बताया कि करीब एक घंटे तक चली वार्ता में जयशंकर ने ओली से बोला कि नीतिगत निर्णय लेने के लिए दोनों राष्ट्रों में सकारात्मक माहौल है।

ओली के विदेश संबंध सलाहकार राजन भट्टराई ने द पोस्ट से बोला कि ओली के दिए अपने संदेश में मोदी ने द्विपक्षीय संबंधों को गतिशील व प्रगतिशील बनाने के लिए अपनी तत्परता जाहीर की।

नेपाल (Nepal) द्वारा सितंबर, 2015 में संविधान अंगीकार करने के बाद से हिंदुस्तान से उसके संबंध बिगड़ गए थे। हिंदुस्तान ने नेपाल (Nepal) की सीमा पर पांच महीनों तक नाकेबंदी कर दी, जिस कारण नेपाल (Nepal) को कठिनाई हुई थी।

भट्टराई के मुताबिक, ओली ने बुधवार को जयशंकर से बोला कि उनके मोदी के साथ 'विशेष रिश्ते' हैं, व उन्होंने आपस में दोनों राष्ट्रों के विकास व समृद्धि पर चर्चा की है। जयशंकर ने बोला कि हिंदुस्तान नेपाल (Nepal) का हर वस्तु में समर्थन करने के लिए तैयार है।