पाकिस्तान के जनरल शाहिद अहमद हशमत ने श्रीलंका के राष्ट्रपति से की मुलाकात, जानिए ये है वजह

पाकिस्तान के उच्चायुक्त मेजर जनरल शाहिद अहमद हशमत ने श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना से मुलाकात कर कश्मीर के वर्तमान दशा पर चर्चा की.

इसके बाद पाकिस्तान ने दावा किया हैकि श्रीलंकाई राष्ट्रपति ने कश्मीर मामले पर मध्यस्थता की बात कही है. वहीं, सिरिसेना ने इस बात से साफ मना कर दिया. उन्होंने पाकिस्तान उच्चायुक्त से मुलाकात के बाद कश्मीर मुद्दे में कुछ भी बोलने से भी मना कर दिया.

राष्ट्रपति भवन ने बयान में बोला है कि सिरिसेना ने पाकिस्तान उच्चायुक्त को बात करने के लिए बुलाया था. उन्होंने बोला कि श्रीलंका सिर्फ क्षेत्रिए स्तर पर इस मामले को सुलझाने की बात कर रहा था, क्योंकि दोनों देश के बीच अच्छे संबंध हैं. वे नहीं चाहते कि संबंध व बेकार हो जाएं.

कोलंबो में पाकिस्तान के उच्चायुक्त ने बुधवार को सिरिसेना से मुलाकात की थी. उन्होंने दावा किया था कि सिरिसेना ने भी माना है कि जम्मू और कश्मीर को विशेष प्रदेश का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को समाप्त करना संयुक्त देश सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) के प्रस्ताव का उल्लंघन किया है. सिरिसेना ने यूएनएससी में कश्मीर मामले पर मध्यस्थता की बात कही है.

दूसरी ओर, पाक के पीएम इमरान खान ने गुरुवार को कश्मीर कोर ग्रुप के साथ मीटिंग की. इस दौरान चर्चा की गई कि कश्मीर मामले को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर दमदारी के साथ उठाने के लिए कौन से महत्वपूर्ण कदम उठाए जाएं. पाकिस्तान पीएमओ ने बोला कि हिंदुस्तान ने कश्मीर में गैर-कानूनी रूप से अनुच्छेद 370 को समाप्त किया है. कश्मीर में अशांति वअसुरक्षा का माहौल है. हमें वहां शांति व लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बात करनी होगी.