संसार के लगभग हर दरवाजे पर दस्तक दी लेकिन उसे कुछ नहीं हुआ हासिल : Pakistan

संसार के लगभग हर दरवाजे पर दस्तक दी लेकिन उसे कुछ नहीं हुआ हासिल : Pakistan

(Pakistan) ने संसार के लगभग हर दरवाजे पर दस्तक दी लेकिन उसे कुछ हासिल नहीं हुआ। हमेशा की तरह चाइना (China) के अतिरिक्त किसी व मुल्क ने उसकी खास मदद नहीं की है। इसके बाद इमरान खान कश्मीर के मुद्दे पर आए दिन झूठ बोलते नजर आ रहे हैं। इस बार वह कश्मीर के मुद्दे को लेकर सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के विशेष विमान पर सवार होकर न्यूयॉर्क पहुंचे हैं। इमरान की इस यात्रा का केन्द्र बिंदु 'मिशन कश्मीर' रहेगा। इमरान खान, अमेरिका के लिए रवाना होने से पहले सऊदी अधिकारियों से मुलाकात करने के लिए रियाद में थे।

उन्हें सऊदी क्राउन प्रिंस ने अमेरिका की यात्रा के लिए वाणिज्यिक उड़ान का प्रयोग करने से रोका। सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने पाक के पीएम से कहा, "आप हमारे विशेष मेहमान हैं व आप हमारे विशेष विमान से अमेरिका जाएंगे। " इमरान खान का संयुक्त देश में पाक की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी, अमेरिका में पाक के राजदूत असद मजीद खान और न्यूयॉर्क में दूसरे अधिकारियों ने स्वागत किया। लोधी के अनुसार, इमरान खान ने कश्मीर के प्रति संसार का ध्यान खींचने के कोशिश के तहत पाक के लिए 'मिशन कश्मीर' लॉन्च किया है। लोधी ने बोला कि यह इमरान खान का महासभा का पहला दौरा है व 'वह संयुक्त देश में कश्मीरी लोगों की आवाज बनेंगे। '

इमरान खान न्यूयॉर्क के रूजवेल्ट होटल में ठहरे हैं, जिसका आंशिक रूप से स्वामित्व पीआईए के पास है। डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, इस स्थान पर ज्यादातर पाकिस्तानी नेता सितंबर 2008 तक ठहरते रहते थे। इसके बाद तत्कालीन राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी और तत्कालीन पीएम नवाज शरीफ बड़े होटलों जैसे वाल्डोर्फ अस्टोरिया में ठहरने लगे जिसकी मूल्य रूजवेल्ट से कम से कम 20 गुना ज्यादा है।

इमरान खान सप्ताहांत पर न्यूयॉर्क पहुंचे हैं, जो उन्हें संसार के नेताओं से मिलने से पहले पाकिस्तानी राजनयिकों से सलाह करने और पाकिस्तानी-अमेरिकी समुदाय के प्रतिष्ठित सदस्यों से मिलने का मौका प्रदान करेगा। इमरान खान सोमवार को ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन से नाश्ते पर पहली अनौपचारिक मुलाकात करेंगे।

पाकिस्तान और भारतीय पीएम दोनों 27 सितंबर को संयुक्त देश महासभा को संबोधित करेंगे। पीएम नरेंद्र मोदी शुक्रवार प्रातः काल पहले संबोधित करेंगे, जबकि पाकिस्तानी प्रधानममंत्री इमरान खान दोपहर बाद संबोधित करेंगे। पाक के पीएम ने पहले ही घोषणा की है कि वह अपने संबोधन में कश्मीर के मामले को उजागर करेंगे।