भारतीय वायुसेन को नए हथियारों के आधुनिकी करण के लिएसरकार से अलावा धन की आवश्यकता

भारतीय वायुसेन को नए हथियारों के आधुनिकी करण के लिएसरकार से अलावा धन की आवश्यकता

सीमा पर बढ़ते तनाव के बीच भारतीय वायुसेना (आईएएफ) को नए हथियारों व पुराने हथियारों के आधुनिकीकरण के लिए केन्द्र सरकार से अलावा धन की आवश्यकता है. हालांकि इन हथियारों की खरीद के लिए पहले ही कॉन्ट्रैक्ट किया जा चुका है. नाम ना बताने की शर्त पर वायुसेना के दो अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

एक ऑफिसर ने बताया कि भारतीय वायुसेना के लिए इस वर्ष बजट में कुल 39, 300 करोड़ का प्रावधान रखा गया है, जो कि बहुत ज्यादा नहीं है. हथियारों के लिए अधिक पैसे की दरकार है. इसके साथ ही उन्होंने बोला कि भारतीय वायुसेना को हथियारों के आधुनिकीकरण के लिए करीब 40, 000 करोड़ रुपए व चाहिए.

अधिकारी ने कहा, "वायुसेना के लिए निर्धारित बजट व हमारी जरूरतों में अंतर चिंता का विषय है. हमने सरकार से व फंड मुहैया कराने के लिए बोला है. हमें बताया गया है कि दिसंबर में संशोधित बजट स्तर पर भारतीय वायुसेना की मांगों पर विचार किया जाएगा."

भारतीय वायुसेना की खरीद लिस्ट योजना में 114 नए मध्यम वजन के लड़ाकू विमान, 83 हल्के लड़ाकू विमान, मिग-29 व सुखोई-30 के 33 लड़ाकू विमान, सिक्स एरियल रिफ्यूलिंग प्लेन, 56 नए मध्यम परिवहन एयरक्राफ्ट व 70 बेसिक ट्रेनर एयरक्राफ्ट शामिल हैं.