ऑस्ट्रेलिया के पूर्व पीएम टिम फिशर का हुआ निधन

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व उप पीएम टिम फिशर ( Former deputy prime minister Tim Fischer ) का 73 साल की आयु में निधन हो गया. ऑस्ट्रेलिया के एक राष्ट्रीय नेता के तौर पर पहचान बना चुके टिम फिशर बीते 10 सालों से ल्यूकेमिया व कैंसर से जूझ रहे थे. गुरुवार को दक्षिणी एनएसडब्ल्यू अस्पताल में उनका निधन हो गया.

फिशर के परिवार में उनकी पत्नी जूडी व दो बेटे डोमिनिक व हैरिसन हैं. फिशर के परिवार वालों ने बताया कि उनका उपचार एल्बरी वोडोंगा कैंसर सेंटर में चल रहा था.

2016 में टिम फिशर को पता चला कि वे माइलॉयड ल्यूकेमिया जैसे गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं, लेकिन इससे पहले वे मूत्राशय व प्रोस्टेट कैंसर से जूझ रहे थे.

बताया जाता है कि टिम फिशर ने 1996 में पोर्ट आर्थर हत्याकांड के बाद कठोर बंदूक कानून बनाने के लिए पूर्व प्रधान मंत्री जॉन हावर्ड ( former prime minister John Howard ) की सहायता करने में जरूरी किरदार निभाई थी.

टिम फिशर 24 वर्ष की आयु में प्रदेश के सांसद बन गए थे. संघीय पॉलिटिक्स में प्रवेश करने से पहले उन्होंने फर्र ( Farrer ) के मतदाताओं की सेवा के लिए संघीय पॉलिटिक्स में प्रवेश करने से पहले स्टर्ट व मरे की सीटों पर उन्होंने कार्य किया.

फिशर ने 1990 से 1999 तक देश के नेता के रूप में सेवा की. 1996 से 1999 तक वे हावर्ड सरकार में उप प्रधान मंत्री रहे. हालांकि जब उन्होंने उप प्रधान मंत्री के रूप में त्याग पत्र दिया, तो श्रमिक नेता किम बेज़ले ने उन्हें 'इस जगह पर वास्तव में प्यार करने वाले लोगों में से एक' के रूप में वर्णित किया था.

बाद में टिम फिशर ने पारिवारिक कारणों का हवाला देते हुए 2001 में पॉलिटिक्स छोड़ दी. 2001 में पॉलिटिक्स छोड़ने के बाद वे पर्यटन ऑस्ट्रेलिया के अध्यक्ष बने. पीएम केविन रुड ने तब उन्हें रोम में होली सी ( Holy See ) में ऑस्ट्रेलियाई राजदूत नियुक्त किया.