पान के पत्तों को खाने से दूर भागता है सर्दी-जुकाम

हवन और पूजा-पाठ आदि में प्रयोग होने वाले पान के पत्तों में प्रोटीन, कार्बाेहाइड्रेट, टैनिन, कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयोडीनऔर पोटेशियम जैसे मिनरल्स प्रचुर मात्रा में होते हैं.

सर्दी-जुकाम में इनका उपयोग आयुर्वेदिक उपचार के रूप में किया जा सकता है.

हल्दी का टुकड़ा सेंककर पान पत्ते में डालकर खाने से फायदा होगा.

रात में तेज खांसी चलती हो तो पान के पत्ते में अजवाइन और मुलैठी का टुकड़ा डालकर खा सकते हैं.

बच्चों को सर्दी-जुकाम हो तो एक पत्ते पर हल्का गर्म सरसों का ऑयल लगाकर बच्चों के सीने पर रखने से आराम मिलता है.