पाकिस्तान में बादल फटने के बाद अचानक हुआ ये...

पाकिस्तान में बादल फटने के बाद  अचानक हुआ ये...

हिंदुस्तान के कई राज्यों में मानसून ने अपना प्रभाव दिखाना प्रारम्भ कर दिया है, तो वहीं पड़ोसी देश नेपाल व चाइना में भी भारी बारिश व बाढ़ के कारण लोग बेहाल हैं.अब पड़ोसी देश पाक में बादल फटने की घटना सामने आई है.

Related image

पाकिस्तान की नीलम घाटी में बादल फटने के बाद आकस्मित आई बाढ़ की के कारण 22 लोगों की मृत्यु हो गई, जबकि कई लोगों के लापता होने की समाचार है. अधिकारियों ने सोमवार को इस विषय में यह जानकारी दी है.

आपदा प्रबंधन अधिकारियों का हवाले से खबर एजेंसी सिन्हुआ ने बताया कि टूरिस्ट रिजॉर्ट नीलम घाटी में बादल फटने से भारी तबाही हुई है. इस घटना में 150 से ज्यादा घर व दो मस्जिदें प्रभावित हुई हैं.

अधिकारियों ने बताया है कि कई लोग अभी भी अपने घरों में फंसे हुए हैं, जिन्हें निकालने का कोशिश जारी है. विस्थापित लोगों को ठहराने के लिए अस्थायी शिविरों की व्यवस्था की गई है.

पाकिस्तान में मानसून का असर

बता दें कि पड़ोसी देश पाक में भी मानसून का प्रभाव दिखने लगा है. इससे पहले अप्रैल महीने में पाक के कई इलाकों में हुई भारी बारिश के बाद बाढ़ ने भारी तबाही मचाई थी.

उत्तर-पश्चिम पाक के इलाकों में भारी बारिश के बाद बाढ़ के कारण कई लोगों की मृत्यु हो गई थी. पेशावर, खैबर पख्तूनख्वा में बाढ़ से 6 लोगों की मृत्यु हो गई थी. जबकि दर्जनों लोग घायल हो गए थे.

क्या है बादल फटने का मतलब?

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक जब एक स्थान पर बहुत ही कम समय में आकस्मित भारी बारिश आ जाती है तो उसे ही बादल फटना कहते हैं. दूसरे शब्दों में कहें तो एक ही स्थान पर आकस्मित भारी मात्रा में आसमान से पानी गिर जाता है.

पानी की बूंदों से बने बादल आकस्मित जमीन पर तेज गति के साथ आ गिरते हैं. बादल फटने को फ्लैश फ्लड भी बोला जाता है.

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक बादल फटने की घटना तब होती है जब बहुत ज्यादा ज्यादा नमी वाले बादल एक स्थान पर रुक जाते हैं व वहां उपस्थित पानी की बूंदें आपस में मिलने लगती हैं. बूंदों के वजन से बादल का घनत्व बहुत ज्यादा बढ़ जाता है व फिर आकस्मित भारी बारिश प्रारम्भ हो जाती है. बादल फटने पर 100 मिलीमीटर प्रति घंटे की गति से बारिश हो सकती है.