सूडान: धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए की गई गोलीबारी, 30 की मौत

सूडान: धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए की गई गोलीबारी, 30 की मौत

सूडान के सैन्य शासकों ने सेना मुख्यालय के बाहर कई हफ्ते से धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए सोमवार को गोलीबारी की. गोलीबारी में कम से कम 30 प्रदर्शनकारी मारे गए व सैकड़ों घायल हो गए. भारी हथियारों से लैस अर्धसैनिक बल रैपिड सपोर्ट फोर्सेज के जवान बड़ी संख्या में राजधानी की सड़कों पर तैनात किए गए हैं.

गाड़ियों पर मशीनगनों के साथ तैनात जवान अहम पुलों व प्रवेश मार्गों पर निगरानी कर रहे हैं. अमेरिका व ब्रिटेन ने प्रदर्शनकारियों पर बल इस्तेमाल नहीं करने व राष्ट्रपति उमर अल बशीर को अपदस्थ करने वाले जनरलों से सत्ता असैन्य हाथों में सौंपने का आह्वान किया है. सूडान के डॉक्टरों की केंद्रीय समिति ने बताया कि मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 30 से अधिक हो गई है.

उन्होंने बताया कि सैकड़ों लोग घायल हैं. समिति ने बताया कि मृतकों में आठ वर्ष का बच्चा भी शामिल है. समिति ने रेडक्रॉस व अन्य मानवीय एजेंसियों से घायलों को तत्काल मदद उपलब्ध कराने का आग्रह किया है. सैन्य परिषद ने अपने बलों द्वारा सेना मुख्यालय के सामने धरने पर बैठे लोगों को हिंसक ढंग से वहां से हटाने से मना किया है.