अगर आवास बना तो उजड़ जाएगा खेल मैदान चारागाह के लिए भी नहीं रहेगी जमीन ग्रामीणों ने अधिकारियों को सौंपा ज्ञापन

कोडरमा ब्यूरो झुमरी तिलैया नगर परिषद के वार्ड 22 स्थित झुमरियां टांड़ में नगर विकास विभाग के द्वारा भूमिहीनों के लिए आवास बनाने की योजना है। यह आवास लगभग पांच करोड़ रुपए की लागत से बनाने की योजना है। अगर यहां आवास बना तो न सिर्फ खेल का मैदान उजड़ जाएगा बल्कि पशुओं के चारागाह के लिए भी जमीन नहीं रहेगी। ऐसे कहना के स्थानीय ग्रामीणों का। खेल मैदान और चारागाह को बनाने के लिए ग्रामीणों ने डीसी घोलप रमेश गोरख, नप के कार्यपालक पदाधिकारी कौशलेश कुमार, सीओ अशोक राम को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में कहा गया है कि यह शहर का एक मात्र ऐसा मैदान है जहां फुटबॉल और क्रिकेट के मैच खेले जाते हैं। यहां पारंपरिक झूमर का आयोजन होता है। सैकड़ो की संख्या में लोग योगा और मॉर्निंग तथा इंविनिंग वॉक करते हैं। यह मैदान पशुओं का एक मात्र चारा गाह है जहां पूरे गांव के पशु चरते हैं। अगर यहां आवास बना तो सब कुछ नष्ट हो जाएगा। पहले भी दिया गया था ज्ञापन: पहले नप के द्वारा यहां कार्यालय बनाने और अर्बन हाट बनाने की योजना थी। ग्रामीणों ने वर्ष 2017 में भी अधिकारियों को ज्ञापन दिया था जिसमें लगभग 500 लोगों के हस्ताक्षर थे। नरि विकास के सचिव को भी पत्र दिया गया था। इसके बाद भी सीओ के द्वारा आवास के लिए जमीन आवंटित कर दी गई है। पार्षद ने किया विरोध: वार्ड पार्षद दिलीप प्रसाद वर्मा ने भी अपने लेटर पैड पर पत्र लिखकर अधिकारियों को सौंपा है। पार्षद ने पत्र में कहा है कि यह मैदान शहर का एकमात्र मैदान है। आवास बनने से सब नष्ट हो जाएगा। पार्षद ने भी आवास निर्माण का विरोध किया है। ग्रामीणें ने बताई जगह: अधिकारियों को सौंपे पत्र में ग्रामीणों ने कहा है कि नदी के पार खाता 220/221, प्लॉट 6211, 12,13,14 और 18 में सैकड़ो एकड़ जमीन खाली है। आवास के लिए यह स्थन सबसे उपयुक्त है।