क्या इस 'पवित्र पर्वत' से होकर झारखंड में गुजरेगी वाराणसी-हावड़ा बुलेट ट्रेन, रूट में आएंगे इतने जिले

क्या इस 'पवित्र पर्वत' से होकर झारखंड में गुजरेगी वाराणसी-हावड़ा बुलेट ट्रेन, रूट में आएंगे इतने  जिले

Varanasi-Howrah Bullet Train Route: गिरिडीह जिले के पारसनाथ पहाड़ पर जैन धर्म के 24 में से 20 तीर्थंकरों (सर्वोच्च जैन गुरुओं) ने मोक्ष की प्राप्ति की. यहीं 23 वें तीर्थकर भगवान पार्श्वनाथ ने भी निर्वाण

प्राप्त किया था. माना जाता है कि 24 में से 20 जैन तीर्थंकरों ने यहां पर मोक्ष प्राप्त किया था. यानी यह श्वेताम्बर व दिगम्बर, दोनों जैन धर्मावलंबियों के लिए पुण्य भूमि है. इसके साथ ही 1,350 मीटर (4,430 फीट) ऊंचा यह पहाड़ झारखंड का सबसे ऊंचा स्थान भी है. यहां की प्राकृतिक छटा भी देखने योग्य है. ऐसे में यहां तीर्थ यात्रियों के साथ ही पर्यटकों का भी बहुतायत में आना-जाना है. यही कारण है कि बुलेट ट्रेन को गिरिडीह जिले से गुजारने की योजना पर भी विचार हो रहा है.


असम-अरुणाचल सीमा पर चली गोलीबारी

असम-अरुणाचल सीमा पर  चली गोलीबारी

असम में धेमाजी जिले के गोगामुख में अरुणाचल प्रदेश से लगती सीमा के एक विवादित हिस्से पर सड़क निर्माण को लेकर स्थानीय लोगों के विरोध के बाद तनाव बढ़ गया, जिसके बाद एक ठेकेदार ने हवा में गोली चलाई। अधिकारियों ने यहां बृहस्पतिवार को यह जानकारी 

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह घटना बुधवार शाम उस वक्त हुई जब गोगामुख थाना क्षेत्र के हिम बस्ती इलाके में विवादित स्थल पर अरुणाचल प्रदेश सरकार द्वारा सड़क निर्माण कराया जा रहा था। उन्होंने कहा, ''असम के स्थानीय ग्रामीणों ने अरुणाचल प्रदेश सरकार द्वारा किये जा रहे सड़क निर्माण में बाधा डाली। जब ग्रामीण निर्माण स्थल पर विरोध करने पहुंचे तो ठेकेदार ने हवा में गोली चलाई।'' अधिकारी ने बताया कि गोली चलाने की घटना के बाद गुस्साई भीड़ ने काम को जबरन रुकवा दिया, कुछ वाहनों को नुकसान पहुंचाया तथा सड़क निर्माण दल के लिए बनाए गए अस्थायी शिविर में आग लगा दी। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, ''सूचित किये जाने के बाद असम पुलिस का एक दल मौके पर पहुंचा।

हम इलाके में गश्ती कर रहे हैं ताकि कोई अप्रिय घटना न हो।'' इस घटना के संदर्भ में अरुणाचल प्रदेश सरकार की कोई प्रतिक्रिया अभी नहीं प्राप्त हुई है। सीमा सड़क को लेकर यह झड़प असम और अरुणाचल प्रदेश के बीच 24 जनवरी को हुई बैठक के दो दिन बाद हुई। गत सोमवार को असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने सीमा विवाद पर चर्चा के लिए अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू के साथ बैठक की थी। भाषा सुरेश नीरज