जाने किस वजह के कारण मिले सीआरपीएफ जवानों मे कोरोना संक्रमित मुद्दे 

जाने किस वजह के कारण मिले सीआरपीएफ जवानों मे कोरोना संक्रमित मुद्दे 

सीआरपीएफ की 31वीं बटालियन में कई जवानों के एक साथ संक्रमित होने के मुद्दे में क्वारंटाइन नियमों को लेकर भ्रम व सोशल डिस्टेंसिंग का ठीक ढंग से पालन नहीं करने जैसे मुद्दे सामने आए हैं. 

भिन्न-भिन्न दावों के बीच जवानों को स्पष्ट आदेश दिए गए हैं कि वे किसी भी स्तर पर कोताही न करें. अर्धसैन्यबलों को आगाह किया गया है कि वे सोशल डिस्टेंसिंग व हेल्थ प्रोटोकॉल के तय मानकों का कठोर अनुपालन सुनिश्चित करें. साथ ही, क्वारंटाइन के लिए भी स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशा-निर्देश ध्यान में रखने को बोला गया है जिससे कोई भ्रम की स्थिति न हो.

हॉट स्पॉट में तैनाती मुख्य वजह: सूत्रों ने बोला है कि मुख्यत: हॉट स्पॉट इलाकों में तैनाती की वजह से संक्रमण फैलने की बात सामने आई है लेकिन कुछ जगहों पर दिशा-निर्देश को लेकर लचीले रुख की बात भी सामने आई है. सुरक्षा बलों के आंतरिक संवाद में स्पष्ट किया गया है कि कोविड - 19 की चुनौती में तय मानकों की अनदेखी किसी भी स्तर पर न हो.

उठे थे सवाल: सीआरपीएफ की 31वीं बटालियन में आकस्मित बड़ी संख्या में मुद्दे सामने आने के बाद सीआरपीएफ के अफसरों और मेडिकल विंग में असहमति के सुर देखने को मिले थे. सीआरपीएफ अफसरों ने क्वारंटाइन नियमों को लेकर भ्रम की वजह मेडिकल विंग का एक आदेश बताया था, जिसमें कथित तौर पर कम दिनों तक क्वारंटाइन करने को बोला गया था. मेडिकल विंग का बोलना था कि एक बैरक में ज्यादा संख्या में जवान होने व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ठीक ढंग से न होने की वजह से संक्रमण फैला. बढ़े मामलों से कोविड प्रबंधन को लेकर अंदरूनी स्तर पर सवाल उठ रहे थे. गृह मंत्रालय ने सारे मुद्दे में दखल दिया था.
 
शिकायतें भी आई थीं: पिछले दिनों कई स्तरों पर शिकायतें भी सामने आई थीं जिनमें कुछ सुरक्षा बलों में अफसरों द्वारा मानकों की अनदेखी के आरोप लगाए गए थे. हालांकि, उच्च स्तर से स्पष्ट किया गया था कि जवान हों या अफसर, सभी को हेल्थ प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करना है.