भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने इस तरिके से किया पीएम मोदी का बचाव

भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने इस तरिके से किया पीएम मोदी का बचाव

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण कार्य के लिए भूमि पूजन समारोह में शिरकत करने जा रहे पीएम नरेंद्र मोदी सियासी दलों के टारगेट पर हैं. अब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती, पीएम मोदी के बचाव में उतर आईं हैं।

उन्होंने कहा कि सोमनाथ मंदिर का निर्माण कार्य राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद ने आरंभ कराया था. अब पीएम मोदी इसी तर्ज पर मंदिर निर्माण का कार्य प्रारंभ करवाएंगे.

उमा भारती ने कहा है कि अयोध्या अब विवाद का विषय नहीं है. वहां आस्था का टकराव नहीं था. मुसलमानों की आस्था खुदा पर है, मक्का मदीना पर है, इस्लाम पर है, किन्तु बाबर या बाबर द्वारा बनवाई हुई किसी यादगार पर नहीं. उमा भारती ने आगे कहा है कि हिंदू हों या मुसलमान, सबकी निगाह में बाबर एक विदेशी हमलावर था. कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उमा भारती ने कहा कि अयोध्या मसले को नेहरू ने सियासी मंशा से वर्ष 1949 में विवादित बना दिया.

उमा भारती ने कहा कि शीर्ष अदालत के फैसले का सभी धर्म के लोगों ने स्वागत किया. ऐसा नेहरू के वक़्त में भी हो सकता था, किन्तु कांग्रेस की वोट बैंक की भूख ने उस समय ऐसा नहीं होने दिया और देश को 71 वर्षों तक तनाव में रखा. अब देशवासियों ने ही एकजुटता से इस तनाव का अस्तित्व मिटा दिया. उमा भारती ने कांग्रेस, समाजवादी और वामपंथी विचारधारा के लोगों पर इल्जाम लगाया कि वे मंदिर निर्माण कार्य को शांति से आरंभ नहीं होने देने की बेचैनी से घिरे हुए हैं. देश के लोग एकजुट होकर उनके इरादों पर पानी फेर देंगे.