राज्यपाल कोश्यारी पर क्यों इतना भड़क गए उद्धव...

राज्यपाल कोश्यारी पर क्यों इतना भड़क गए उद्धव...

Uddhav Thackeray on BJP: उद्धव ठाकरे ने बीजेपी की गवर्नमेंट पर निशाना साधते हुए बोला कि जब से ये गवर्नमेंट आई है लगातार महाराष्ट्र का अपमान किया जा रहा है इस गवर्नमेंट में एक-एक करके कंपनियां बाहर जा रही हैं ठाकरे ने गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी पर जमकर हमला बोला उन्होंने कहा, ‘मैं उन्हें गवर्नर नहीं कहूंगा क्योंकि गवर्नर के पद का आदर करना चाहिए और मैं करता भी हूं लेकिन कोश्यारी बार-बार महाराष्ट्र का अपमान कर रहे हैं कुछ दिनों पहले उन्होंने सावित्री बाई फुले के बारे में बयानबाजी की थी उसके पहले मुंबई के ठाणे में रहने वाले मराठी लोगों का अपमान किया था अब तो हद हो गई है, हमारे देव तुल्य क्षत्रपति शिवाजी महाराज को उन्होंने पुराने आदर्श कहकर उनका उल्लेख किया है’ उद्धव ने प्रश्न पूछने के अंदाज में कहा, ‘ये पुराना आदर्श क्या होता है? इसलिए कोल्हापुर के हमारे जिला प्रमुख ने अच्छा मिसाल देते हुए बोला कि बाप तो बाप होता है नया बाप-पुराना बाप ये क्या चीज होती है? तो ऐसे जो लोग होते हैं, इनको तुरंत यहां से हटाना चाहिए

ठाकरे यहीं नहीं रुके, उन्होंने कोश्यारी पर तंज कसते हुए उन्हें अमेजन का पार्सल बता डाला उन्होंने कहा, ‘कुछ दिन इन्तजार करेंगे और यदि ये अमेजन का पार्सल यदि वापस जाता है तो अच्छा है, नहीं तो उसे वापस भेजना पड़ेगा कोई योग्य आदमी महाराष्ट्र में इस जगह पर आना चाहिए वरना हमें कुछ न कुछ करना पड़ेगा

‘बीजेपी न्याय प्रबंध को भी अपने हाथ में लेना चाहती है’
किरण रिजिजू पर प्रश्न उठाते हुए उन्होंने बोला कि कानून मंत्री किरण रिजिजू ने हाल ही में संभावना जताई है कि जस्टिस की नियुक्ति में पारदर्शिता नहीं होती है ठाकरे ने आगे कहा, ‘रिजिजू के अनुसार जस्टिस को नियुक्त करने का अधिकार पीएम के पास होना चाहिए मतलब पूरी न्याय संस्थाओं को भी अपने हाथ में लेना चाहते हैं इसका विरोध तो होना ही चाहिए इस पर न्यायालय की तरफ से भी कार्रवाई होनी चाहिए

उन्होंने चुनाव आयोग पर बात करते हुए कहा, ‘सुप्रीम न्यायालय में आयोग को लेकर एक मुकदमा चल रहा है इस मुकदमा में न्यायमूर्ति ने बोला है कि इलेक्शन कमिश्नर कैसे नियुक्त किया जाता है, इस पर भी चर्चा होना चाहिए उसका कोई सिस्टम होना चाहिए इसी ढंग से गवर्नर या गवर्नर की नियुक्ति पर भी उन्होंने प्रश्न किया

कोश्यारी की बात में क्या भाजपा की विचारधारा शामिल है?
ठाकरे ने बोला कि वर्तमान में जो भी गवर्नमेंट केंद्र में होती है वो अपनी मर्जी से अपने आदमी को राज्यों में गवर्नर बनाकर भेज देती है, ऐसे ही कोश्यारी जी को भी भेजा है उन्होंने बोला कि अभी कोश्यारी जी ने जो भी बात कही है क्या वो भाजपा की विचारधारा है?

उद्धव ठाकरे ने बसवराज बोम्मई पर भी निशाना साधते हुए बोला कि उन्होंने हमारे 40 गांवों पर दावा किया है उन्होंने कहा, ‘मैं पूछना चाहता हूं कि क्या महाराष्ट्र में लोग नहीं रहते हैं क्या उनका स्वाभिमान नहीं है? क्या ऐसे ही कोई भी आएगा और हमारे विरूद्ध कुछ बोलकर चला जाएगा?’ ठाकरे ने आगे बोला कि क्या केंद्र की गवर्नमेंट बोम्मई के दावे के साथ खड़ी है? 

‘अब बर्दाश्त नहीं होगा’
ठाकरे ने बोला कि ये बर्दाश्त नहीं होगा इसलिए अब समय आ गया है कि हम बाहर निकलें यदि अभी हम इन बातों की अनदेखी करते हैं तो आगे चलकर हमें और कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है मैं सभी से अपील करता हूं कि चलो, पार्टी बाद में है, महाराष्ट्र पहले है महाराष्ट्र रहेगा तो पार्टी रहेगी राज्य की अस्मिता और उसके स्वाभिमान को ठेस पहुंचती है तो हमें एकत्रित होकर उसका विरोध करना चाहिए