गुलाम नबी आजाद का तंज- कांग्रेस के नेताओं को 5 स्टार कल्चर पसंद, इससे चुनाव नहीं जीते जा सकते

गुलाम नबी आजाद का तंज- कांग्रेस के नेताओं को 5 स्टार कल्चर पसंद, इससे चुनाव नहीं जीते जा सकते

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने एक बार फिर पार्टी के कामकाज के तरीके पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने रविवार को पार्टी में पदाधिकारियों के चुनाव कराने पर जोर देते हुए नेताओं में पनप रहे 5 स्टार कल्चर और चुनाव में मिली हार पर भी तीखे कमेंट किए।

राज्यसभा में विपक्ष के नेता आजाद ने चुनावों में मिली हार पर कहा कि हम सभी पार्टी को हो रहे नुकसान को लेकर फिक्रमंद हैं। खासकर बिहार और देश के कई राज्यों में हुए उपचुनावों के नतीजों से। मैं इस नुकसान के लिए पार्टी की लीडरशिप को दोष नहीं देता। हमारे लोगों ने जमीन से जुड़ाव खत्म कर लिया है। किसी को भी अपनी पार्टी से प्यार होना चाहिए।

'72 साल में सबसे निचले पायदान पर कांग्रेस'

उन्होंने कहा कि 5 स्टार कल्चर से चुनाव नहीं जीते जा सकते। आज नेताओं के साथ यह दिक्कत है कि अगर उन्हें टिकट मिल जाता है तो वे सबसे पहले 5 स्टार होटल बुक करते हैं। अगर सड़क खराब है तो वे उस पर नहीं जाएंगे। जब तक इस 5-स्टार कल्चर को छोड़ नहीं दिया जाता, तब तक कोई चुनाव नहीं जीता जा सकता।

पिछले 72 साल में कांग्रेस सबसे निचले पायदान पर है। कांग्रेस के पास पिछले दो कार्यकाल के दौरान लोकसभा में विपक्ष के नेता का पद भी नहीं है। हालांकि, कांग्रेस ने लद्दाख हिल काउंसिल के चुनावों में 9 सीटें जीतीं। हम वहां इस तरह के पॉजिटिव रिजल्ट की उम्मीद नहीं कर रहे थे।

'नियुक्त पदाधिकारी ग्राउंड तक नहीं जाते'
गुलाम नबी आजाद ने कहा, 'पदाधिकारियों को अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए। जब तक पदाधिकारी नियुक्त किए जाते रहेंगे, वे ग्राउंड पर नहीं जाएंगे। अगर सभी पदाधिकारी एक प्रक्रिया के तहत चुने जाते हैं, तो वे अपनी जिम्मेदारी समझेंगे। अभी, किसी को भी पार्टी में कोई भी पद मिल जाता है।'

'जब तक हम हर स्तर पर अपने कामकाज के तरीके नहीं बदलेंगे, चीजें नहीं बदलेंगी। लीडरशिप को पार्टी कार्यकर्ताओं को एक प्रोग्राम देने और पदों के लिए चुनाव कराने की जरूरत है। किसी को भी इस लायक होना चाहिए कि उसके न होने पर लीडरशिप उसके बारे में पूछे।'

'पार्टी का ढांचा ढह चुका है'

आजाद ने कहा कि हमारी पार्टी का ढांचा ढह गया है। हमें इसे फिर से तैयार करने की जरूरत है। फिर कोई नेता उस स्ट्रक्चर के हिसाब से चुना जाता है, तो यह तरीका काम करेगा, लेकिन यह कहना कि सिर्फ नेता बदलने से हम बिहार या यूपी, एमपी जीत लेंगे तो यह गलत है। एक बार जब हम सिस्टम बदल देंगे तो ऐसा होने लगेगा।

'गांधी परिवार को क्लीन चिट'

उन्होंने कहा कि मैं कोरोना के कारण गांधी परिवार को क्लीन चिट दे रहा हूं। वे अभी बहुत कुछ नहीं कर सकते। हमारी मांगों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। वे हमारी ज्यादातर मांगों पर सहमत हो गए हैं। देश में विकल्प बनना चाहते हैं और पार्टी को फिर जिंदा करना चाहते हैं तो हमारी लीडरशिप को पार्टी में पदों के लिए चुनाव करना चाहिए।

कपिल सिब्बल भी कर रहे बदलाव की मांग
कुछ महीने पहले हुई कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक के बाद से कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल भी लगातार पार्टी के कामकाज की आलोचना कर रहे हैं। इससे पहले पार्टी के 23 नेताओं ने इस मसले पर अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्‌ठी भी लिखी थी। इनमें कपिल सिब्बल के साथ गुलाम नबी आजाद भी शामिल थे। चिट्ठी में पार्टी में ऊपर से नीचे तक बदलाव करने की मांग की गई थी।

सीडब्ल्यूसी की बैठक में चिट्ठी लिखने वाले नेताओं की भाजपा से मिलीभगत का आरोप लगाए जाने से ये दोनों नाराज हो गए थे। बिहार चुनाव में हार के बाद कपिल सिब्बल ने तो यहां तक कह दिया था कि पार्टी ने शायद हर चुनाव में हार को ही नियति मान लिया है। इसे पार्टी के टॉप लीडरशिप यानी सोनिया और राहुल गांधी पर निशाना माना गया था।

सलमान खुर्शीद बोले, पार्टी में लीडरशिप का क्राइसिस नहीं

गुलाम नबी आजाद के बयान के बाद कांग्रेस के एक और वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद का बयान सामने आया। उन्होंने कहा कि पार्टी के अंदर लीडरशिप का क्राइसिस नहीं है। सभी सोनिया गांधी और राहुल के सपोर्ट में हैं। जो अंधा नहीं है, उसे यह दिख जाएगा।

एक इंटरव्यू में खुर्शीद ने कहा कि पार्टी की लीडरशिप मेरी बात सुनती है। मुझे मौका दिया जाता है। उन्हें भी मौका दिया जाता है, जो कहते हैं कि पार्टी नेतृत्व किसी की सुन नहीं रहा है।

चुनावों में हार पर पार्टी के बड़े नेताओं कपिल सिब्बल और पी चिदंबरम की टिप्पणियों पर खुर्शीद ने कहा कि उन्होंने जो कहा उससे असहमत नहीं हो सकते, लेकिन कोई भी यह बात बाहर जाकर मीडिया और दुनिया को क्यों बताता है कि हमें ऐसा करने की जरूरत है।


ग्रिजली विद्यालय में ऑनलाइन सीसीए के तहत कार्यक्रम आयोजित

ग्रिजली विद्यालय में ऑनलाइन सीसीए के तहत कार्यक्रम आयोजित

कोडरमा-तिलैया डैम स्थित ग्रिजली विद्यालय मे ऑनलाइन सी0सी0ए0 गतिविधि के अन्तर्गत विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया जिसमें किचन एक्टिविटी में सैंडविच बनाना, कॉटन बॉल्स के फूल बनाना, तितलियाँ बनाना शामिल है।

प्री-प्राईमरी के छात्रों के लिए आयोजित इन गतिविधियों में कक्षा एल०के०जी० एवं कक्षा द्वितीय के लिए किचन एक्टिविटी के तहत सैंडविच बनाने की प्रतियोगिता आयोजित की गई जिसमें आर्यन कुमार, आयुश सिन्हा, आयुषि मोदी, भावेश कुमार, जयंत चौरसिया, कुमारी वैष्णवी, मयंक राज, नैना कुमारी, ओम कुमार शर्मा, प्रकुल शर्मा, सार्थक खेडकर, सृजा कुमारी, अदिति सिन्हा, प्रखर शर्मा, विराट राज, मयंक कुमार यादव ने भाग लिया और बेहतरीन तरीके से तथा स्वादिष्ट सैंडविच बनाया।कक्षा यू०के०जी० के छात्रों के लिए आयोजित कॉटन बॉल्स के फूल बनाने की प्रतियोगिता में अक्षिता यादव, खुशी कुमारी, अंशुमान कुमार, जीविका यादव, कुमारी काव्या, अनोखी वर्मा, परी, अनुराग कुमार, जय कुमार ने भाग लिया। कक्षा प्रथम के लिए आयोजित तितली बनाने की प्रतियोगिता में पुनीश, आर्यन, संजीवन, आभाष, सिन्दू, अयांश, आशी, अपराजिता ने भाग लिया और बेहतरीन रंग बिरंगी तितली बनाई। प्रतियोगिता में शामिल सभी बच्चों ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया।

इस अवसर पर विद्यालय के सी0ई0ओ0 प्रकाश गुप्ता ने प्रतियोगिता में शामिल बच्चों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि इस प्रकार की गतिविधियां बच्चों में हमेशा नई उत्साह और ऊर्जा प्रदान करती है। वही विद्यालय के प्राचार्य पन्नालाल पुटन्डी ने भी सभी छात्रों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि ऐसे आयोजन बच्चों के अंदर छिपी हुई प्रतिभा को निखारने के कार्य करते है।

इस आयोजन को सफल बनाने में संयोजक तुषार राॅय चैधरी, प्रिति जगनानी,   शिक्षिका नेहा बर्णवाल, डाॅली कुमारी, सिल्की प्रिया, अदिती कुमारी, अनमोल कुमारी आदि का योगदान सराहनीय रहा ।


कप्तान विराट कोहली ने ऐसे किया बचाव, धूल उड़ती पिच पर टिक नहीं पाए बल्लेबाज       16 चौके व 2 छक्कों की मदद से बनाए 115 रन, प्रियम गर्ग ने अपनी टीम के लिए लगाया शतक       Road Safety World Series 2021 में इंग्लैंड की टीम की कप्तानी करेगा ये दिग्गज       क्रिकेट करियर में 972 विकेट चटकाने वाले भारतीय गेंदबाज ने की संन्यास की घोषणा       दो विश्व कप जीतने वाले खिलाड़ी यूसुफ पठान ने लिया संन्यास       डीजल-पेट्रोल मूल्य वृद्वि के खिलाफ  कांग्रेस का मशाल जुलूस       ग्रिजली विद्यालय में ऑनलाइन सीसीए के तहत कार्यक्रम आयोजित       डिजिटल डिवाइस के माध्यम से छात्र-छात्राओं कराया जायेगा पठन-पाठन, जिले के 25 हाई स्कूल में स्मार्ट क्लास की स्थापना       Sidharth Shukla से एक यूजर ने कहा, 'शहनाज गिल के साथ फ्रेंडशिप पड़ रही हैं महंगी'       Priya Prakash Varrier Video: शूटिंग के दौरान प्रिया प्रकाश वारियर हुईं हादसे का शिकार       OTT Platform Guidelines: 'सेक्रेड गेम्स 2' से लेकर 'तांडव' तक, इन वेब सीरीज पर मचा बवाल       कैंसर के इलाज करा रहीं राखी सावंत की मां का अस्पताल से इमोशनल वीडियो आया सामने       Lisa Haydon तीसरी बार बनने जा रही हैं मां, बेबी बम्प के साथ किया डांस       सहवाग ने इग्लैंड के बल्लेबाजों को किया ट्रोल, राहुल गांधी का ये वीडियो किया शेयर       सपा पर बरसे CM योगी, यहां गर्मी दिखाने की जरूरत नहीं       सावधान सोशल मीडिया पर, फेसबुक-ट्विटर हो या नेटफ्लिक्स-अमेजन       अब महँगा होगा दूध, सरकार नहीं किसानों ने किया बड़ा ऐलान!       धरती पर दिखा स्वर्ग, ऐसा नजारा कभी नहीं देखा होगा       सबसे महंगी Biryani: नाम है इसका रॉयल गोल्ड       दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम रखा गया नरेंद्र मोदी स्टेडियम