खनन नियमों को ताक में रखकर मजदूरों की जान से हो रहा खिलवाड़ : सईद नसीम

खनन नियमों को ताक में रखकर मजदूरों की जान से हो रहा खिलवाड़ : सईद नसीम

मनोज पांडेय की रिपोर्ट
कोडरमा/झारखंड
जिले में आए दिन हो रहे खदान दुर्घटनाओं में मजदूरों के मौत का सिलसिला कब रुकेगा ये कहना मुश्किल होगा हाल के दिनों के कार्यप्रणाली से लगता है प्रशासन और खनन विभाग के लिए एक बड़ी चुनौती  है इसे रोकना। खदान में मजदूरों की सुरक्षा के पूरे प्रबंध होने चाहिए।

इंसान की जान कीमती है, क्या मजदूर इंसान नहीं होते।उक्त बातें कांग्रेस नेता सईद नसीम ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा उन्होंने कहा कि लगातार यह देखा जाता है कि किसी भी खदान में दुर्घटना होने पर खदान के संचालक अपनी पैरवी और पहुंच के बल पर मामले को रफा-दफा करने में सफल हो जाते हैं। वही हादसे के शिकार हुए गरीब परिवार के मृतक मजदूर के सदस्यों से पैसे के बल पर मोल भाव कर उन्हें केस भी करने से रोक दिया जाता है।

जिले में लगभग 70 खदानें वैध रूप से संचालित हैं वहीं इन इलाकों में कई अवैध खदान भी संचालित है। लगातार हो रही खदान दुर्घटना से लगता है इन 70 खदानों में पिछले कई वर्षों से खनन नियमावली को ताक पर रखकर उत्खनन का कार्य किया जाता रहा है।

जिसके कारण यह सभी खदानें ने पूरी तरह से डेंजरस जोन में आ गई है। कई खदानें लगभग 200-300 फिट से ज्यादा गहरे हो चुके हैं। वही देखने से मालूम होता है कि इन खदानों में सुरक्षा के उपाय के तहत ना तो बेन्चिंग कराई गई है और ना ही फेंसिंग का कार्य किया गया है। सईद नसीम ने कहा कि खदानों के नियमावली के तहत संचालन को लेकर जिले में खनन विभाग के अलावा वहां की सुरक्षा व्यवस्था को देखने के लिए करमा के पास खान सुरक्षा निदेशालय कार्यालय भी संचालित है।

मगर यह दोनों कार्यालयों द्वारा जिले में नियमों को ताक पर किए जा रहे खनन कार्य को लेकर अरसे से खानापूर्ति की जाती रही है। यही कारण है कि सुरक्षा के मापदंडों की पूरी तरह से अवहेलना किए जाने के बाद भी जिले में एक भी खदान बंद नहीं है। वहीं कई ऐसे खदानें हैं जिनकी पूर्व में लीज की अवधि समाप्त हो चुकी है। विभागीय उदासीनता के कारण इसके बाद आसपास के चालू खदानों के नाम पर इन्हें संचालित किया जा रहा हैं।

सबसे हैरानी की बात यह है कि प्रशासन द्वारा भी ऐसे खदानों पर कार्रवाई के नाम पर दोहरा मापदंड अपनाया जाता रहा है। हद तो तब हो जाती है जब खदान दुर्घटना होने पर जिला स्तर से जांच टीम की रिपोर्ट पर भी चेहरे के हिसाब से कार्रवाई होती है हाल के दिनों में देखा गया है कि पुरनाडीह स्थित एक खदान में हुई दुर्घटना के मामले में उसका लिस्ट कैंसिल कर दिया गया फिर वही चांचल और चमारों में हुए उसी तरह की दुर्घटनाओं में जांच के नाम पर खानापूर्ति कर खदान संचालकों को क्लीन चिट दे दी गई।

कई खदानों को खतरनाक बताकर उत्खनन बंद करने का आदेश दिए गया है। लेकिन इसके बावजूद ऐसे कई खदानों में उत्खनन का कार्य जारी है। ऐसे खदान अन्य दिनों में भी खतरनाक साबित होते हैं और बारिश के दिनों में ऐसे खदानों की स्थिति और भी खतरनाक हो जाती है।

सईद नसीम ने कहा कि मजदूरों की जान सस्ती नही है यह जिला प्रशासन को समझना चाहिए। खनन नियमावली का पालन कड़ाई से करवाते हुए खदानों में कार्य करवाया जाय ताकि खदान संचालकों की लापरवाही से आए दिन हो रही मजदूरों की मौत को रोक जा सके और मजदूरों की जान की रक्षा हो सके।


पाकिस्तान : 13 साल की लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कर कराया गया निकाह

पाकिस्तान : 13 साल की लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कर कराया गया निकाह

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक लड़कियों के जबरन धर्म परिवर्तन के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। ताजा मामला एक 13 वर्षीय इसाई लड़की का है। लड़की के पिता का आरोप है कि एक मुस्लिम लड़के ने लड़की का अपहरण कर उसका जबरन धर्म परिवर्तन करवाया और फिर जबरदस्ती उससे शादी कर ली। यह घटना पाकिस्तान के गुजरांवाला शहर में हुई है। लड़की के पिता के अनुसार, अपहरणकर्ता एक मुस्लिम है जिसने लड़की से जबरदस्ती शादी कर ली।

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता के पिता अपने परिवार के लिए न्याय की मांग कर रहे हैं। आरिफ टाउन के एक दर्जी शाहिद गिल ने कहा कि उनके पड़ोसी ने उनकी 13 वर्षीय बेटी को उनकी मेकअप एक्सेसरीज की दुकान पर सेल्सगर्ल के रूप में काम पर रखने की पेशकश की थी। हालांकि गिल ने अपनी बेटी को दुकान पर काम पर भेजने से मना कर दिया था।

उन्होंने कहा कि अपहरणकर्ता लगातार उनसे मदद की मांग करता रहा। शाहिद ने कहा कि घर की स्थिति ठीक ना होने के कारण बाद में उन्होंने अपनी बेटी को पड़ोसी की दुकान पर काम करने की अनुमति दे दी। गिल ने कहा कि 20 मई को उनकी बेटी घर से गायब हुई थी बाद में पड़ोसियों से पता चला कि उन्होंने लड़की को अपहरणकर्ता और कुछ अन्य पुरुषों एवं महिलाओं के साथ पिकअप ट्रक पर जाते हुए देखा था।

उन्होंने बताया कि मामले की शिकायत वो फिरोजवाला पुलिस स्टेशन में करवा चुके थे और 29 मई को उस व्यक्ति और सात अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। जांच अधिकारी एसआइ लियाकत ने कहा कि दो संदिग्धों को हिरासत में ले लिया गया लेकिन बाद में लड़की एक स्थानीय अदालत में पेश हुई।

पुलिस अधिकारी के अनुसार, लड़की ने अदालत में कहा कि उसने स्वेच्छा से इस्लाम धर्म अपनाने और बाद में अनुबंधित विवाह करने के लिए अपना घर छोड़ा था। उन्होंने कहा कि अदालत ने लड़की को उसके कथित पति के साथ जाने की अनुमति दे दी थी और पुलिस को मामला रद्द करने का आदेश दिया था, जिसके बाद पुलिस ने अदालत के आदेश का पालन किया।

 
हालांकि, लड़की के पिता गिल ने कहा कि उसकी बेटी साढ़े 13 साल की है और इसलिए अदालत को उसके धर्मांतरण और स्वेच्छा से शादी करने के उसके बयान को स्वीकार नहीं करना चाहिए। 

गिल ने कहा कि वह व्यक्ति पहले से ही शादीशुदा था और उसके तीन बेटियां और एक बेटे सहित चार बच्चे हैं। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि उसकी बेटी को बहला-फुसलाकर उसका धर्म परिवर्तन कराया गया और उसकी मर्जी के खिलाफ शादी कर ली गई और हो सकता है कि लड़की ने ऐसा बयान दबाव में दिया हो। उन्होंने अधिकारियों से राष्ट्रीय डेटाबेस और पंजीकरण प्राधिकरण (नादरा) से उनकी बेटी की उम्र की पुष्टि करने और उन्हें न्याय प्रदान करने की मांग की।

 
अमेरिका स्थित सिंधी फाउंडेशन ने कहा है कि हर साल 12 से 28 साल की करीब 1,000 युवा सिंधी हिंदू लड़कियों का अपहरण किया जाता है, उनकी जबरन शादी की जाती है और उनका धर्म परिवर्तन कराया जाता है। पाकिस्तान ने कई मौकों पर राष्ट्र में अल्पसंख्यक समुदायों के हितों की रक्षा करने का वादा किया है। हालांकि, अल्पसंख्यकों पर बड़े पैमाने पर हमले एक अलग कहानी बयान करते हैं।


नासा के रोवर परसिवरेंस ने मार्स पर देखी धरती पर मौजूद वॉल्‍केनिक रॉक जैसी चट्टान       दस वर्ष बाद पहली बार आज मिलेंगे बाइडन और पुतिन, तनातनी के बीच जानें       अब तक चोरी की घटना का कोई सुराग नहीं,पीड़ित परिवार से मिलकर जिला प्रधान ने जाना हाल-चाल, शहर की विधि व्यवस्था पर एसपी से करूंगी बात: शालिनी       भारतीय मूल की सरला विद्या बनीं अमेरिका में संघीय जज, बाइडन ने किया मनोनीत       सरला से बढ़ा भारत का मान, बाइडन ने किया कनेक्टिकट राज्‍य का संघीय जज मनोनीत, जानें       बाइडन ने पुतिन को कहा था 'हत्‍यारा', जानें- जिनेवा में उनसे मुलाकात के पूर्व कैसे पड़े नरम, कही ये बात       अंतरिक्ष में Manned Mission को तैयार चीन, कल रवाना होंगे तीन एस्‍ट्रॉनॉट्स       रेडिएशन लीकेज से चीन का इनकार, कहा...       पाक सेना प्रमुख बाजवा ने अफगानिस्तान के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा पर ...       पाक की संसद में जमकर हुआ हंगामा, सत्तापक्ष और विपक्ष के सदस्यों ने एक दूसरे पर फेंके बजट के दस्तावेज       सिंध में पैसे देकर कोई कुछ भी कर सकता है, प्रांत में नहीं है सरकार जैसी कोई चीज- चीफ जस्टिस ऑफ पाकिस्‍तान       कुलभूषण जाधव मामले में इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने सुनवाई 5 अक्टूबर तक टाली       पाकिस्तान : 13 साल की लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कर कराया गया निकाह       फेक न्यूज प्रसारित करने वालों पर सीएम योगी सख्त, बोले- संप्रदायिक उन्माद फैलाने की कोशिश नहीं स्वीकार       इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक कॉलेजों में इस वर्ष नहीं बढ़ेगी फीस, योगी सरकार का बड़ा फैसला       सतीश पूनिया ने कहा कि राजस्थान में सीएम वर्चुअल, जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं       नीतीश कुमार ने कहा कि बारिश और बाढ़ के मद्देनजर पूरी तरह से अलर्ट रहे आपदा प्रबंधन विभाग       तीसरी लहर से लड़ने को नोएडा जिम्स अब डॉक्टर-पैरामेडिकल स्टाफ को कर रहा तैयार       UP School Reopening: क्या एक जुलाई से खुलेंगे स्कूल ?       चिराग-नीतीश की अदावत के बीच पिस रही भाजपा