रक्षा मंत्रालय ने कोरोना के चलते एनसीसी कैडेट्स व पूर्व सैनिकों की सेवाओं को लेकर लिया यह बड़ा निर्णय 

रक्षा मंत्रालय ने कोरोना के चलते एनसीसी कैडेट्स व पूर्व सैनिकों की सेवाओं को लेकर लिया यह बड़ा निर्णय 

रक्षा मंत्रालय ने कोरोना के खतरे से निपटने के लिए एनसीसी कैडेट्स व पूर्व सैनिकों की सेवाएं लेने का निर्णय किया है. इनका उपयोग लोगों को राहत व आवश्यक सेवाएं उपलब्ध कराने में किया जाएगा. मंत्रालय ने जारी बयान में यह बात कही.

एनसीसी ने कोविड की रोकथाम में मदद के लिए अभ्यास एनसीसी सहयोग नाम से एक राष्ट्रव्यापी अभियान प्रारम्भ करने का निर्णय किया है. इसमें एनसीसी के वे कैडेट जो 18 वर्ष से अधिक आयु के हैं, लोकल प्रशासन की मदद करेंगे. उन्हें इस काम के लिए सरकार अस्थार्यी रोजगार भी उपलब्ध कराएगी.

राज्यों कैडेट को कोरोना हॉटस्पाट पर तैनात नहीं किया जाएगा. वे हेल्पलाइन, राहत एवं खाद्य सामग्री, दवाओं का वितरण आदि करेंगे. एक एनसीसी ऑफिसर की देखरेख में 8-20 कैडेट के समूहों को जगह-जगह तैनात किया जाएगा.

पूर्व जवानों की तैनाती: रक्षा मंत्रालय ने कहा, वह अपने सेवानिवृत्त जवानों को भी एकजुट कर रहा है ताकि वे सहायता काम में मदद कर सकें. प्रदेश सैनिक बोर्ड, जिला सैनिक बोर्ड सहयोग दे रहे हैं. उत्तर प्रदेश में सभी सैनिक कल्याण बोर्ड सरकार के सम्पर्क में हैं.