आम आदमी पार्टी के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को न्यायालय ने हिरासत में भेजा, कुंडली में हुआ खुलासा

 आम आदमी पार्टी के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को न्यायालय ने हिरासत में भेजा,  कुंडली में हुआ खुलासा

 उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा (Delhi Violence) के मुद्दे में अरैस्ट दिल्ली के निगम पार्षद ताहिर हुसैन ( Tahir Hussain) के बाद उनके भाई की भी जल्द गिरफ्तारी हो सकती है। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को ताहिर हुसैन के भाई शाह आलम के दिल्ली हिंसा में शामिल होने के पुख्ता सबूत मिले हैं। पुलिस की कई टीमें लगातार कर रही है शाहआलम की तलाश कर रही हैं।  

बता दें आम आदमी पार्टी के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को न्यायालय ने गुरुवार (6 मार्च) को सात दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था। सात दिन की पुलिस रिमांड पर चल रहे ताहिर हुसैन की घटना वाले दिन की कुंडली खंगालने पर शुक्रवार को मुद्दे की जाँच कर रही एसआईटी को बहुत ज्यादा कुछ जानकारियां हासिल हुई हैं।

दिल्ली पुलिस क्राइम शाखा के एक सूत्र के अनुसार, "घटना वाले दिन ताहिर हुसैन ने सबसे ज्यादा व लगातार जिन लोगों के साथ बात की थी, एसआईटी ने शुक्रवार को उन 15 लोगों की पहचान कर ली। यह वार्ता मोबाइल के जरिए हुई। ताहिर ने इन सबसे उसी दिन इतनी ज्यादा देर तक क्यों व क्या लंबी वार्ता की? इसका खुलासा नहीं हो सका है। "

एसआईटी सूत्रों के मुताबिक, "चिन्हित किए गए लोगों में ताहिर हुसैन के कई सम्बन्धी भी शामिल हैं। जिनके बारे में ताहिर ने बस इतना ही बोला है कि घटना वाले दिन वो इन लोगों को हिंसाग्रस्त इलाके में जाने को कह रहा था। हालांकि, दिल्ली पुलिस क्राइम शाखा के गले उसकी यह दलील कतई नहीं उतर रही है। "

उम्मीद है कि शनिवार को इन चिंहित किए गए संदिग्धों को पुलिस बाकायदा कानूनी नोटिस देकर बयान दर्ज कराने के लिए तलब कर ले। एसआईटी को उम्मीद है कि भले ही दो दिन में ताहिर से कुछ विशेष हासिल ना हो सका हो, मगर आने वाले एक दो दिन में उससे बहुत ज्यादा कुछ जानकारियां मिलने की उम्मीद हैं।

ताहिर के विरूद्ध मुख्य मुद्दा अंकित शर्मा हत्याकांड का है।