भाजपा ने कोरोना वायरस से निटपने के केन्द्र सरकार के प्रयासों की सोनिया गांधी पर की यह बड़ी टिप्प्णी, जाने खबर

 भाजपा ने कोरोना वायरस से निटपने के केन्द्र सरकार के प्रयासों की सोनिया गांधी पर की यह बड़ी टिप्प्णी, जाने खबर

 भाजपा ने कोरोना वायरस (Coronavirus) से निटपने के केन्द्र सरकार के प्रयासों की सोनिया गांधी की आलोचना को ‘‘तुच्छ राजनीति’’ करार देते हुए खारिज कर दिया। बीजेपी की तरफ से जारी बयान में  बोला गया है कि देश में लॉकडाउन को बिना तैयारियों के लागू करने का कांग्रेस पार्टी अध्यक्षा का बयान ‘सरासर झूठ’ व ‘तथ्य से परे’ है।

भाजपा नेताओं ने गुरुवार को विपक्षी दल पर जिम्मेदार किरदार निभाने व इस महामारी से एकजुट होकर निपटने को कहा। बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह, सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद सहित केन्द्र में सत्तारूढ़ पार्टी के कई नेताओं ने कांग्रेस पार्टी पर हमला बोला।   

गृह मंत्री अमित शाह ने आरोप लगाया कि जब भी देश की एकजुटता की बात आई है तब कांग्रेस पार्टी ने अपने निहित स्वार्थों की पूर्ति के लिए सदैव ही जनता को भ्रमित कर देश व समाज को बांटने की पॉलिटिक्स करने का कोशिश किया है।

भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा, ‘‘सम्पूर्ण दुनिया में पीएम नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हिंदुस्तान सरकार के प्रयासों की सराहना हो रही है.प्रधानमंत्री सभी प्रदेश सरकारों को साथ लेकर टीम इंडिया के रूप में इस लड़ाई को लड़ रहे है. विषम परिस्थितियों में कांग्रेस पार्टी को एक ज़िम्मेदार सियासी दल के रूप में कार्य करना चाहिए। ’’ 

इससे पहले, सोनिया गांधी ने सरकार की आलोचना करते हुए बोला कि लॉकडाउन को बिना योजना बनाए हुए लागू किया गया। सोनिया गांधी ने कांग्रेस पार्टी काम समिति को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये संबोधित करते हुए बोला कि लॉकडाउन महत्वपूर्ण होने कि सम्भावना है लेकिन इसके अनियोजित क्रियान्वयन से लाखों प्रवासी श्रमिकों को कठिनाई व तकलीफ उठानी पड़ रही है। उन्होंने बोला कि कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से बने दशा से निपटने के लिए सरकार को एक विस्तृत रणनीति बनाना चाहिए थी।

गृह मंत्री अमित शाह ने अपने ट्वीट में बोला कि पीएम नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना वायरस पर जीत की जंग में समग्र हिंदुस्तान के एकजुट प्रयासों की न केवल देश में बल्कि पूरी संसार में सराहना हो रही है।

उन्होंने बोला कि दुनिया स्वास्थ्य संगठन व संयुक्त देश संघ से लेकर दुनिया की तमाम महाशक्तियां कोरोना को हराने व इसे ख़त्म करने के लिए हिंदुस्तान व पीएम मोदी की ओर आशा भरी नजरों से देख रही है।

उन्होंने बोला कि 130 करोड़ भारतवासी कोविड-19 वायरस को हराने के लिए एकजुट व कटिबद्ध हैं लेकिन इस कठिन समय में भी कांग्रेस पार्टी तुच्छ पॉलिटिक्स करने से बाज नहीं आ रही।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, ‘‘ यह कांग्रेस पार्टी की पुरानी आदत रही है कि जब भी राष्ट्रहित की बात आई है या देश की एकजुटता की बात आई है तो उसने हमेशा से एक अलग राह पकड़ी है व अपने निहित स्वार्थों की पूर्ति के लिए उसने सदैव ही जनता को भ्रमित कर देश व समाज को बांटने की पॉलिटिक्स करने का कोशिश किया है। ’’

विपक्षी पार्टी पर निशाना साधते हुए शाह ने बोला कि इसकी जितनी भी निंदा की जाय, कम है। आखिर कांग्रेस पार्टी कब अपनी स्वार्थपूर्ण पॉलिटिक्स के ऊपर राष्ट्रहित को तरजीह देगी? वहीं बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ आज जब सम्पूर्ण देश एकजुट होकर पीएम नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में कोविड-19 के ख़िलाफ़ लड़ाई लड़ रहा है, उस समय कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा दिया गया बयान संवेदनहीन व अशोभनीय है। ’’ नड्डा ने कहा, ‘‘ यह पॉलिटिक्स करने का नहीं, देश की सेवा करने का समय है। हमें एकजुट होकर लड़ना है। ’’ कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए नड्डा ने कहा, ‘‘कांग्रेस अध्यक्षा का यह बयान कि देश में लॉकडाउन बिना तैयारियों के लागू किया गया है, सरासर झूठ व तथ्य से परे है। ’’ नड्डा ने बोला कि कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष के बयान के उलट सच्चाई कुछ व ही है।

उन्होंने बोला कि पीएम नरेन्द्र मोदी ने कोरोना के विरूद्ध निर्णायक जंग के लिए देश में संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा 24 मार्च 2020 को रात 08:00 बजे की थी जबकि सच्चाई यह है कि पंजाब व राजस्थान जैसे कांग्रेस पार्टी शासित प्रदेश पहले ही लॉकडाउन घोषित कर चुके थे। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि मध्य प्रदेश की तत्कालीन कांग्रेस पार्टी सरकार ने अल्पमत में रहने के बावजूद विधानसभा ही स्थगित कर दी थी व महाराष्ट्र व केरल में भी कमोबेश यही दशा थे।

भाजपा अध्यक्ष ने बोला कि वास्तविकता यह है कि कोरोना वायरस के बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए देश के लगभग 70% भागों में पहले ही या तो लॉकडाउन लागू हो चुका था या लॉकडाउन जैसी स्थिति बन चुकी थी।

उन्होंने बोला कि ऐसे में क्या कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोनिया गाँधी यह बोलना चाहती हैं कि कांग्रेस पार्टी की उनकी ही प्रदेश सरकारों ने बिना किसी तैयारी के अपने-अपने राज्यों में लॉकडाउन घोषित कर दिया? बहरहाल, कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘‘ कठिन की इस घड़ी में हमें एकजुट होकर इस कोरोना वायरस का मुकाबला करना चाहिए, पॉलिटिक्स नहीं। ’’ उन्होंने बोला कि नरेन्द्र मोदी सरकार देश के प्रत्येक नागरिक के जीवन, स्वास्थ्य व सुरक्षा के लिए पूर्णतः कटिबद्ध है। रोज़मर्रा की ज़रूरत की सभी चीजों को लोगों तक पहुँचाने के लिए सरकार व ऑफिसर दिन-रात कार्य कर रहे हैं।

गृह मंत्री एवं बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष ने बोला कि समय-समय पर भारतवासियों ने विषम से विषम हालात से लड़ने में दुनिया के सामने उदाहरण प्रस्तुत किया है। आज पुनः देशवासी कोरोना के विरूद्ध जंग में एकजुट होकर दुनिया को एक नयी राह दिखा रहे हैं लेकिन कांग्रेस पार्टी देशवासियों की जंग को निर्बल करने में लगी हुई है. ऐसी पॉलिटिक्स से कांग्रेस पार्टी का भला होने वाला नहीं है।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बोला कि कोरोना वायरस से उत्पन्न स्थिति से निपटने में पीएम नरेन्द्र मोदी सभी को साथ लेकर चल रहे हैं व देशव्यापी लॉकडाउन सहित उनकी ओर से उठाये गए कदमों की पूरी संसार में प्रशंसा हो रही है।

जावड़ेकर ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम सभी को एक दिशा में कार्य करना चाहिए व मिलकर इस महामारी का मुकाबला करना चाहिए । कोरोना वायरस को परास्त करने के बाद पॉलिटिक्स करने के व भी मौके आयेंगे। ’’ केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बोला कि पूरा देश कोरोना वायरस के विरूद्ध ‘एकजुट संकल्प’ का प्रदर्शन कर रहा है व ऐसे समय में यह स्तब्ध करने वाला है कि सोनिया गांधी ने लॉकडाउन पर सवाल उठाया।

प्रसाद ने कहा, ‘‘भारत चुनौतिपूर्ण समय से गुजर रहा है । वक्त की आवश्यकता है कि हर किसी को सियासी मतभेदों को भूलकर एक स्वर में कहना चाहिए व एकजुट संकल्प का प्रदर्शन करना चाहिए। ’’