सुप्रीम न्यायालय के आदेश पर अयोध्या में मिली 5 एकड़ जमीन पर सुन्नी वक्फ बोर्ड मस्जिद के साथ बनवाएगा यह सेण्टर

सुप्रीम न्यायालय के आदेश पर अयोध्या में मिली 5 एकड़ जमीन पर सुन्नी वक्फ बोर्ड मस्जिद के साथ बनवाएगा यह सेण्टर

सुप्रीम न्यायालय के आदेश पर अयोध्या में मिली 5 एकड़ जमीन पर सुन्नी वक्फ बोर्ड मस्जिद के साथ चिकित्सा केंद्र व इण्डो इस्लामिक रिसर्च सेण्टर बनवाएगा. इसके लिए आवश्यकता पड़ने पर आसपास की व जमीन भी खरीदी जाएगी. 

अलावा जमीन की खरीद व निर्माण पर आने वाला खर्च बोर्ड अपने स्तर पर जनसहयोग से जुटाएगा. यह बातें बोर्ड के चेयरमैन जुफर फारुकी ने 'हिन्दुस्तान' से वार्ता में कहीं.
 
उन्होंने बताया कि इन दिनों उत्तर प्रदेश सरकार से मिली पांच एकड़ जमीन के ट्रान्सफर की प्रक्रिया चल रही है. इसके साथ ही इस सारे परिसर के निर्माण व उसके बाद इसके संचालन के लिए बोर्ड एक ट्रस्ट भी गठित कर चुका है.  जल्द ही इस ट्रस्ट के सदस्यों के नामों का एलान भी कर दिया जाएगा. बोर्ड की मीटिंग भी अगले सप्ताह बुलाई गई है. प्रदेश सरकार की ओर से छह महीने का कार्यकाल बढ़ाने के बाद बोर्ड की यह पहली मीटिंग होगी. चेयरमैन जुफर फारुकी ने बोला कि चूंकि बोर्ड के ज्यादातर मेम्बर बुजुर्ग हैं इसलिए कोरोना संकट को देखते हुए यह मीटिंग आनलाइन बुलायी जाएगी.

उधर, अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर निर्माण की गतिविधियां भी तेज हो चली हैं. केंद्र सरकार द्वारा गठित राम जन्म धरती तीर्थ क्षेत्र समिति के मुख्य कार्यकारी ऑफिसर नृपेन्द्र मिश्र इन दिनों अयोध्या में हैं. शुक्रवार 18 जुलाई को इस समिति की मीटिंग भी होगी. इस ट्रस्ट के 15 ट्रस्टियों में से 12 मेम्बर मीटिंग में शामिल होंगे. इससे पहले इस ट्रस्ट की पहली मीटिंग दिल्ली में हो चुकी है. दूसरी मीटिंग अप्रैल में अयोध्या में होनी थी. मगर कोरोना संकट की वजह से नहीं हो सकी थी. मंदिर निर्माण के लिए एलएण्डटी कंपनी के 16 इंजीलियरों की टीम भी अयोध्या में पड़ाव डाल चुकी है.