राष्ट्रीय

सहारा इंडिया परिवार के संस्थापक सुब्रत राय ने मंगलवार को ली आखिरी सांस, इनके निधन के बाद होने लगी इस बात चर्चा

देश-विदेश में सहारा श्री नाम से फेमस सहारा इण्डिया परिवार के संस्थापक और प्रमुख सुब्रत राय का मंगलवार को मृत्यु हो गया गंभीर रोग से पीड़ित सुब्रत राय ने मुंबई के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली मीडिया में इस समाचार के आने के बाद लोग हतप्रद हैं सहारा श्री के मृत्यु के बाद अचानक इस बात की चर्चा होने लगी है कि इन दिनों आखिर उनका परिवार कहां है बता दें कि सुब्रत राय की पत्नी और बेटे ने विदेश की नागरिकता ले रखी है ऐसा उन्होंने भारतीय कानून से बचने के लिए किया था

मैसेडोनिया की नागरिकता

सुब्रता रॉय सहारा की पत्नी स्वप्ना राय और बेटे सुशांतो राय ने दक्षिण-पूर्वी यूरोप के मध्य बाल्कन प्रायद्वीप में स्थित मैसेडोनिया राष्ट्र की नागरिकता ली है परिवार के सदस्य निजी निवेश कंपनियों का हिस्सा रहे हैं, लेकिन वह अब भारतीय नागरिक नहीं हैं बता दें कि मैसेडोनिया राष्ट्र निवेश करने के एवज में नागरिकता प्रदान करता है

मैसेडोनिया से सुब्रतो राय के रहे अच्छे रिश्ते

सुब्रतो राय के इस राष्ट्र के साथ अच्छे संबंध रहे हैं वह स्वयं मैसेडोनिया में कई बार राजकीय मेहमान रह चुके हैं उन्होंने मैसेडोनिया में मदर टेरेसा की एक विशाल प्रतिमा बनाने का प्रस्ताव रखा था और एक बहुत बढ़िया कैसीनो स्थापित करने की भी बात कही गई थी मैसेडोनिया की नागरिकता अन्य राष्ट्रों की तुलना में काफी सस्ती है

निवेश के बदले मिलती है नागरिकता

मैसेडोनिया की गवर्नमेंट किसी को भी नागरिकता प्रदान कर सकती है, जो कम से कम 4 लाख यूरो का निवेश करता है और कम से कम 10 क्षेत्रीय लोगों को रोजगार देता है वहीं, जो लोग इस राष्ट्र में 40 हजार यूरो से अधिक मूल्य की अचल संपत्ति खरीदते हैं, उन्हें मैसेडोनिया में एक साल तक रहने का अधिकार दिया जाता है

Related Articles

Back to top button