प्रियंका गांधी ने कहा कि महंगाई आम जनमानस की तोड़ रही है कमर

प्रियंका गांधी ने कहा कि महंगाई आम जनमानस की तोड़ रही है कमर

Priyanka Gandhi Modi Attack नेशनल कांग्रेस पार्टी पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने बीजेपी की केन्द्र सरकार पर हमला करते हुए कहाकि, देश मे महंगाई अनियंत्रित होकर आम जनमानस की कमर तोड़ रही है. कोविड-19 संकटकाल मे जब मौतों से हर तरफ हाहाकार मचा उसी समय बेरोजगारी और महंगाई ने देश को जकड़ लिया और केन्द्र सरकार हाथ पर हाथ रखकर जनता से केवल कर वसूली कर रही है. कोविड-19 संकट और महंगाई से कराह रहे देश को पीएम नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 महामारी के दौरान जनता को बेसहारा छोड़ दिया और किसी तरह की राहत देने से परहेज कर रहे है.

पेट्रोल-डीजल पर 2.74 लाख करोड़ कर वसूले :- प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहाकि, पेट्रोल, डीजल, सरसों का तेल, अरहर दाल सहित आवश्यक वस्तुओं के दाम बेतहासा बढ़ते जा रहे है, उसको नियंत्रित करने की पहल सरकार ने न करते हुए बल्कि आवश्यक कंज़्यूमर वस्तुओं की जमाखोरी और कालाबाजारी को कानूनी दर्जा देकर सब कुछ मार्केट के हवाले कर देने से स्थितियां लगातार विकराल हो चुकी है. सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर 2.74 लाख करोड़ कर वसूल लिया बीजेपी की नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने जनकल्याण का संवैधानिक मार्ग त्यागकर केवल और केवल जनता पर वजनदार कर लगाकर प्रताड़ित कर रही है.

वसूले गए भारी कर से जनता को क्या मिला? :- प्रियंका गांधी ने सरकार पर बरसते हुए कहाकि, पीएम मोदी लगातार देश को भ्रमित करने और अपनी निजी छवि को बनाने के लिये सरकारी धन का अपव्यय कर रहे है. सरकार में इच्छाशक्ति शून्य है पीएम से प्रश्न पूछते हुए बोला कि पेट्रोल डीजल से वसूले गए भारी कर से जनता को क्या मिला? यदि सरकार में संकट के भीषण काल मे मानवीय संवेदना होती तो जनता को संकट से उबारने के लिए वसूले गए कर से देश के लिये 67000 करोड़ वैक्सीन डोज, देश के समस्त जिलों में ऑक्सीजन प्लांट, 29 राज्यों में एम्स हॉस्पिटल बनाने के साथ-साथ देश के 25 करोड़ गरीबो को एक मुस्त 6000 रुपए की सहायता कर संकटकाल में बड़ी राहत दे सकती थी.


शिव मार्केट में पानी के साथ आया 15 फीट का मगरमच्छ, जान जोखिम में डाल युवा खिंचा रहे फोटो

शिव मार्केट में पानी के साथ आया 15 फीट का मगरमच्छ, जान जोखिम में डाल युवा खिंचा रहे फोटो

मध्य प्रदेश में कई ऐसी नदियां हैं, जहां भारी बारिश के चलते अक्सर जल स्तर बढ़ जाता है। ऐसे में इन नदियों में मगरमच्छों की भरमार भी मिलती है। कभी-कभी तो पानी बहकर शहरों एवं गावों तक पहुंच जाता है। हैरान करने वाली बात यह है कि बुधवार को शिवपुरी की मीट मार्केट में 15 फीट का मगरमच्छ दिखाई दिया। ऐसे में जब युवाओं ने इसे देखा तो उन्होंने वन विभाग को सूचना देने के बजाय खुद की रस्सी से बांधकर उसके साथ सेल्फी लेने लगे।

पिछले सात दिनों में शिवपुरी में अलग-अलग इलाकों में निकल चुके हैं मगरमच्छ

शिवपुरी में पिछले सात दिन में तीन मगरमच्छ अलग-अलग इलाकों में निकल चुके हैं। खास बात यह है कि यहां पर युवा इन मगरमच्छों को खुद पकड़ रहे हैं। स्थानीय निवासी द्वारा इसकी वन विभाग मगरमच्छ की सूचना भी नदीं दे रहे हैं। इतना ही नहीं युवा इन मगरमच्छों के साथ फो खिंचवा रहे हैं। शिवपुरी में जब लोगों ने 15 फीट के मगरमच्छ को देखा तो जोखिम उठाते हुए खुद ही रस्सियों से बांध दिया। इसके बाद उसे कंधों पर उठाकर मस्ती करने लगे।

सेल्फी और वीडियो बनाने में जुटे युवा

इतना ही नहीं लोगों ने उसके साथ सेल्फी, फोटो और वी़डियो बनाई। ऐसे में इन युवाओं की लापरवाही उनको भारी पड़ सकती है! क्योंकि मगरमच्छ कभी-भी युवाओं पर हमला कर सकता है।

खतरनाक प्राणी है मगरमच्छ

बता दें कि मगरमच्छ पानी और धरती पर पाया जाने वाला खतरनाक जीव है। खुरदुरी खाल, उबड़-खाबड़ शरीर और मजबूत जबड़े वाला ये प्राणी ऐसा है कि देखने पर रोंगटे खड़े हो जाते हैं। ये धरती के प्राचीनतम जीवों में से एक हैं और स्तनधारी और सरीसृप दोनों ही श्रेणियों में शामिल है।


भयानक और भयावह इस जीव की खाल बुलेटप्रूफ मानी जाती है, जिसे बंदूक की गोली द्वारा भी भेदा नहीं जा सकने का दावा किया जाता है, लेकिन इसके बाद भी मानव द्वारा किये जाने वाले शिकार के कारण इसकी कई प्रजातियां विलुप्ति की कगार पर है। इसकी खाल विश्व की सर्वश्रेष्ठ खालों में गिनी जाती है और फैशन इंडस्ट्रीज में बहुत लोकप्रिय है।