राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री मोदी ने द्वारका में विभिन्न परियोजनाओं का किया उद्घाटन और शिलान्यास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को गुजरात के द्वारका में विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया इसके बाद वह राजकोट पहुंचे राजकोट में प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात के लोगों को पहले अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) की सौगात दी बता दें, पीएम ने 2020 में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इसकी आधारशिला रखी थी ये 1195 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जा रहा है राजकोट एम्स के अतिरिक्त पीएम ने एम्स कल्याणी, एम्स मंगलगिरी, एम्स बठिंडा और एम्स रायबरेली का भी लोकार्पण किया है

एम्स का लोकार्पण करने के बाद प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने राजकोट में एक भव्य रोड शो किया लोगों ने फूल बरसाकर मोदी का स्वागत किया द्वारका की तरह राजकोट में भी प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया इसके बाद उन्होंने जनसभा को संबोधित किया प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, ‘एक समय था, जब राष्ट्र के सारे प्रमुख कार्यक्रम दिल्ली में ही होकर रह जाते थे मैं हिंदुस्तान गवर्नमेंट को दिल्ली से बाहर निकालकर राष्ट्र के कोने-कोने में पहुंचा दिया आज का यह कार्यक्रम भी इसी बात का गवाह है आज इस एक कार्यक्रम से राष्ट्र के अनेकों शहरों में विकास कार्यों का, लोकार्पण का और शिलान्यास होना एक नयी परंपरा को आगे बढ़ा रहा है

पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘मेरे जीवन का कल एक विशेष दिन था मेरी चुनावी यात्रा की शुरूआत में राजकोट की बड़ी किरदार है 22 वर्ष पहले 24 फरवरी को ही राजकोट ने पहली बार मुझे आशीर्वाद दिया था, अपना एमएलए चुना था और आज 25 फरवरी के दिन पहली बार राजकोट के विधायक के तौर पर गांधीनगर विधानसभा में शपथ ली थी मैंने आपके भरोसे पर खरा उतरने की पूरी प्रयास की है आज पूरा राष्ट्र इतना प्यार दे रहा है, आशीर्वाद दे रहा है तो इसके यश का हकदार, ये राजकोट भी है आज पूरा राष्ट्र तीसरी बार एनडीए गवर्नमेंट को आशीर्वाद दे रहा है और पूरा राष्ट्र अबकी बार 400 पार का विश्वास दे रहा है

पीएम मोदी ने राजकोट को एम्स की सौगात देने का जिक्र करते हुए कहा, ‘विकसित हिंदुस्तान में स्वास्थ्य सुविधाओं का स्तर कैसा होगा, इसकी एक झलक आज हम राजकोट में देख रहे हैं आजादी के 50 सालों तक राष्ट्र में केवल एक एम्स था और वो भी दिल्ली में आजादी के सात दशकों में केवल 7 एम्स को स्वीकृति दी गई, लेकिन वे भी कभी पूरे नहीं बन पाए आज बीते 10 दिन में 7 नए एम्स का शिलान्यास और लोकार्पण हुआ है इसलिए मैं कहता हूं कि जो 6-7 दशकों में नहीं हुआ, उससे कई गुना तेजी से हम राष्ट्र का विकास करके जनता के चरणों में समर्पित कर रहे हैं आज 23 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 200 से अधिक हेल्थकेयर इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स का भी शिलान्यास और लोकार्पण हुआ है

Related Articles

Back to top button