राष्ट्रीय

छत्तीसगढ़ में एसईसीएल की 3 फर्स्ट माइल कनेक्टिविटी परियोजनाओं का वर्चुअल उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज छत्तीसगढ़ में साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एसईसीएल) की तीन फर्स्ट माइल कनेक्टिविटी परियोजनाओं का वर्चुअल उद्घाटन करेंगे फर्स्ट माइल कनेक्टिविटी (एफएमसी) परियोजनाओं का मूल्य 600 करोड़ रुपये है एसईसीएल कोल इण्डिया की सहायक कंपनी है कोयला मंत्रालय ने एक बयान में  बताया कि पीएम मोदी कल छत्तीसगढ़ में कोयला मंत्रालय के अनुसार कोल इण्डिया की सहायक कंपनी साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एसईसीएल) की तीन प्रमुख फर्स्ट माइल कनेक्टिविटी परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे

एक परियोजना दीपका ओपन कास्ट प्रोजेक्ट (ओसीपी) कोयला हैंडलिंग प्लांट है जिसका निर्माण 211 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से किया गया है 25 मिलियन टन (एमटी) की वार्षिक कोयला प्रबंधन क्षमता के साथ, इस परियोजना में 20,000 टन की क्षमता वाला एक ओवरग्राउंड बंकर और 2.1 किलोमीटर लंबा कन्वेयर बेल्ट है बयान में बोला गया है कि इससे प्रति घंटे 4,500 से 8,500 टन कोयले की तीव्र लोडिंग की सुविधा मिलेगी

दूसरी परियोजना छाल ओसीपी कोयला हैंडलिंग प्लांट है, जो 173 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनाया गया है सालाना छह मीट्रिक टन कोयले को संभालने की क्षमता के साथ, इसमें एक ओवरग्राउंड बंकर, 1.7 किमी तक फैला एक कन्वेयर बेल्ट और 3,000 टन की क्षमता वाला एक साइलो शामिल है

इसके अलावा, पीएम बरौद ओसीपी कोयला हैंडलिंग प्लांट का उद्घाटन करेंगे, जिसे सालाना 10 मीट्रिक टन कोयले को संभालने के लिए डिज़ाइन किया गया है इस परियोजना का निर्माण 216 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है 20,000 टन की क्षमता वाले एक ओवरग्राउंड बंकर और 1.7 किमी कन्वेयर बेल्ट से सुसज्जित, इस परियोजना में एक तीव्र लोडिंग प्रणाली है जो प्रति घंटे 5,000-7,500 टन कोयला लोड करने में सक्षम है

कोयला मंत्रालय से जारी बयान के अनुसार एफएमसी परियोजनाओं का लक्ष्य सड़कों के माध्यम से कोयला परिवहन पर निर्भरता को कम करना है, जिससे यातायात की भीड़, सड़क दुर्घटनाओं और पर्यावरणीय असर को कम किया जा सके

Related Articles

Back to top button