कोरोना वैक्‍सीन के वितरण के लिए 80,000 करोड़ रुपये के आकलन से सहमत नहीं: सरकार

कोरोना वैक्‍सीन के वितरण के लिए 80,000 करोड़ रुपये के आकलन से सहमत नहीं: सरकार

नई दिल्ली। सरकार ने मंगलवार को बोला कि वह उस आकलन से सहमत नहीं है कि देश में कोविड-19 के टीका वितरण (Coronavirus Vaccine) के लिए 80,000 करोड़ रुपये की आवश्यकता होगी। स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के मुख्य कार्यकारी ऑफिसर अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) के एक ट्वीट के विषय में पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे। पूनावाला ने सरकार से पूछा था कि अगले एक वर्ष में कोविड-19 के टीका वितरण के लिए क्या उसके पास 80,000 करोड़ रुपये हैं।



पूनावाला ने सवाल किया था, 'एक त्वरित सवाल, क्या हिंदुस्तान सरकार अगले एक वर्ष में 80,000 करोड़ रुपये का बंदोवस्त कर पाएगी? क्योंकि हिंदुस्तान में हर किसी को टीका मुहैया कराने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय को टीका खरीदने के लिए इतने ही रुपये की आवश्यकता होगी। यह अगली चुनौती है जिससे हमें निपटना है। '

Quick question; will the government of India have 80,000 crores available, over the next one year? Because that's what @MoHFW_INDIA needs, to buy and distribute the vaccine to everyone in India. This is the next concerning challenge we need to tackle. @PMOIndia

— Adar Poonawalla (@adarpoonawalla) September 26, 2020



इस पर रिएक्शन जताते हुए भूषण ने कहा, 'हम 80,000 करोड़ रुपये के आकलन से सहमत नहीं हैं। सरकार ने टीका जानकार ों की एक राष्ट्रीय कमेटी बनायी है व अब तक पांच बैठकें हो चुकी हैं। ' उन्होंने कहा, 'इन बैठकों में हमने कोविड-19 टीका वितरण की प्रक्रिया पर व अहमियत वाली आबादी व उसके टीकाकरण के विषय में इस पर होने वाले खर्च को लेकर विचार-विमर्श किया है। '

भूषण ने कहा, 'बैठकों में हमने महत्वपूर्ण रकम का आकलन किया है व वर्तमान में उतनी रकम सरकार के पास उपलब्ध है। '