बिहारराष्ट्रीय

नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव और राहुल गांधी पर बोला हमला, कहा…

बिहार की राजनीति में हुए बड़े उलटफेर के बाद अब इण्डिया गठबंधन के नेताओं का जदयू और नीतीश कुमार पर हमले तेज हो गए हैं वहीं इस बीच पहली बार सीएम नीतीश कुमार की प्रतिक्रिया सामने आयी है जिसमें उन्होंने राजद और कांग्रेस पार्टी को निशाने पर लिया महागठबंधन गवर्नमेंट में हुए विकास कार्यों के श्रेय को लेकर छिड़े टकराव से जुड़े प्रश्न पर उन्होंने तेजस्वी यादव और आरजेडी पर सीएम ने धावा किया जबकि जातीय गणना कराने के दावे और इण्डिया गठबंधन में दरार को लेकर राहुल गांधी पर तीखे प्रहार मुख्यमंत्री ने किए

गठबंधन का नाम I-N-D-I-A नहीं चाहते थे नीतीश

नीतीश कुमार ने पत्रकारों से वार्ता के दौरान कई मुद्दों पर अपनी प्रतिक्रिया दी है उन्होंने इण्डिया गठबंधन से अलग होने की वजह बताते हुए बोला कि गठबंधन जो सोचकर उन्होंने बनाया था वो फेल रहा नीतीश कुमार ने बोला कि गठबंधन का नाम भी हम अगल चाहते थे लेकिन इन लोगों ने इण्डिया नाम तय कर दिया गठबंधन में कोई काम नहीं हो रहा था तो छोड़कर पुराने साथी के साथ आ गए अब बिहार का विकास करने में ध्यान लगाएंगे

राहुल गांधी का दावा- कांग्रेस पार्टी और राजद के दवाब में हुई  जातीय गणना

किशनगंज में हिंदुस्तान जोड़ो इन्साफ यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने बड़ा दावा किया कि उनके दबाव में ही नीतीश कुमार ने जातीय गणना करवाई जिसपर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए नीतीश कुमार ने बोला कि ये फालतू बात है जातीय गणना हमने 9 दलों को बैठाकर तय किया दोनों सदनों से पास कराया पीएम से मुलाकात की सबकुछ जब तय किया तब ये लोग विपक्ष में थे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बोला कि ये हमने किया है सबलोग जानते हैं बता दें कि राहुल गांधी ने सीमांचल की रैली में मंच से दावा किया कि हमने नीतीश कुमार को बोला कि आपको छूट नहीं दे सकते जातीय गणना कराना होगा हमारे और राजद के दवाब देने पर बिहार में जातीय गणना करायी गयी इस दावे का उत्तर नीतीश कुमार ने दिया है

तेजस्वी के दावे को किया खारिज, बोले- वो बच्चा था

वहीं नीतीश कुमार ने राजद और तेजस्वी यादव पर भी निशाना साधा महागठबंधन गवर्नमेंट में हुए विकास कार्यों को लेकर उन्होंने बोला कि ये मेरा किया हुआ है लेकिन कोई अपना क्रेडिट स्वयं लेते रहे तो हम क्या कहें नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव के बयान पर कहा, “जब इनका (RJD) राज था तो क्या होता था? शाम के बाद कोई बाहर निकलता था?जब हम 2005 से आए तब से काम शुरु हुआ हमें पता है कि कुछ लोग अपना प्रचार करते हैं लेकिन यह भी याद करें कि हमने कितना काम किया है…”

 

Related Articles

Back to top button