राष्ट्रीय

अयोध्या मंदिर उद्घाटन से पहले US में गूंजेगा प्रभु श्रीराम का नाम

सैकड़ों सालों से बहुप्रतीक्षित प्रभु श्रीराम के मंदिर के उद्घाटन का समय अब निकट आ रहा है. पीएम मोदी 22 जनवरी को प्रभु श्रीराम के मंदिर का अयोध्या में उद्घाटन करेंगे. मगर उससे पहले जय श्रीराम की गूंज दुनिया के अन्य हिस्सों में भी सुनाई देगी. इसके लिए दुनिया के विभिन्न राष्ट्रों में प्रभु श्रीराम मंदिर के उद्घाटन को भव्य और अंतर्राष्ट्रीय बनाने के लिए बड़े-बड़े आयोजनों की तैयारियां प्रारम्भ कर दी गई हैं. ताकि सनातन धर्म और हिंदुओं के आराध्य प्रभु श्रीराम के मंदिर के उद्धघाटन को यादगार बनाया जा सके. अमेरिका समेत जितने राष्ट्रों में भारतीय लोग रहते हैं, उन सभी जगहों पर भव्य आयोजन की रूपरेखा बनाई जा रही है.

इसके अनुसार पहली कड़ी में अयोध्या में प्रभु श्रीराम मंदिर के उद्घाटन से लगभग एक महीने पहले अमेरिका में बड़े आयोजन की तैयारी है. मंदिर के उद्घाटन को ऐतिहासिक बनाने के लिए यहां सबसे बड़े वेबिनार का आयोजन होने जा रहा है. यह आयोजन भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिकों के लिए मंदिर के इतिहास को दर्शाने के उद्देश्य से की जा रही है. इसके लिए पांच भाग वाली एक वेबिनार श्रृंखला आयोजित की जाएगी. इस वेबिनार श्रृंखला का आयोजन विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की अमेरिकी इकाई और अमेरिका के हिंदू यूनिवर्सिटी द्वारा किया जाएगा. वेबिनार की तैयारियां अभी से प्रारम्भ कर दी गई हैं.

22 जनवरी को होगा मंदिर का उद्घाटन, विभिन्न राष्ट्रों में तैयारियां

अयोध्या में राम मंदिर का भव्य उद्घाटन कार्यक्रम 22 जनवरी, 2024 को होना तय है. अमेरिका समेत कई अन्य राष्ट्रों में भी अयोध्या मंदिर के उद्घाटन को भव्य और ऐतिहासिक बनाने की तैयारियां प्रारम्भ हो गई हैं. विभिन्न राष्ट्रों की ओर से प्रभु श्रीराम मंदिर के उद्घाटन अवसर को अंतर्राष्ट्रीय बनाने की पहल प्रारम्भ कर दी गई है. विश्व हिंदू परिषद की अमेरिकी इकाई और अमेरिका के हिंदू यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित एक संयुक्त बयान में बोला गया है कि विश्व हिंदू परिषद ”अयोध्या में श्री राम मंदिर के पुनर्निर्माण के लिए हिंदुओं का 500 वर्ष का संघर्ष” नामक विषय पर वेबिनार नौ दिसंबर से प्रारम्भ होगा. बयान के मुताबिक इस वेबिनार में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के (सेवानिवृत्त) क्षेत्रीय निदेशक (उत्तर) के के मोहम्मद की एक प्रस्तुति भी शामिल है.

Related Articles

Back to top button