राष्ट्रीय

लोकसभा चुनाव 2024 : जमशेदपुर में भाजपा ने जमीनी स्तर पर शुरू कर दी अपनी तैयारी

लोकसभा चुनाव 2024| जमशेदपुर, संजीव भारद्वाज : लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर जमशेदपुर में बीजेपी ने जमीनी स्तर पर अपनी तैयारी प्रारम्भ कर दी हैं लोकसभा चुनाव के लिए कार्यालय खुल गया है बूथ कमेटियों का गठन हो रहा है

चुनावी सभाओं के लिए तिथियों पर मंथन प्रारम्भ कर दिया गया है दूसरी ओर लगातार तीसरी बार बीजेपी का प्रत्याशी दिल्ली नहीं पहुंचे, इसे लेकर मौखिक नारेबाजी करने वाला विपक्ष अभी तक यह तय नहीं कर पा रहा है कि जमशेदपुर लोकसभा से झामुमो का प्रत्याशी होगा या कांग्रेस पार्टी का

2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत चुके हैं विद्युत

2014 का चुनाव झाविमो की टिकट पर डॉ अजय कुमार ने लड़ा था, जिन्हें बीजेपी प्रत्याशी विद्युत वरण महतो ने पराजित कर पहली बार लोकसभा में प्रवेश किया कांग्रेस पार्टी ने तत्कालीन मंत्री रहे जमशेदपुर पश्चिम के विधायक बन्ना गुप्ता को प्रत्याशी बनाया था

वर्ष 2019 के चुनाव में विपक्ष ने संयुक्त उम्मीदवार के रूप में झामुमो के वरीय नेता सह मौजूदा सीएम चंपाई सोरेन को मैदान में उतारा लेकिन विद्युत वरण महतो ने अपने गुरु रहे चंपाई सोरेन को लगभग तीन लाख से अधिक मतों से पराजित कर लगातार दूसरी जीत दर्ज की

कोल्हान में राजनीति गीता कोड़ा पर टिकी

राज्य में झामुमो, कांग्रेस पार्टी और राजद का गठबंधन चल रहा है, जिसमें अब तक मजबूती भी दिख रही है हालिया घटनाक्रम के बाद यह गठजोड़ और भी मजबूत हो गया है, इसके बावजूद झामुमो अब तक जमशेदपुर सीट को लेकर अडिग है
किसी भी तरह की उलट-पलट होने की राजनीति हमेशा से आसार बनी रहती है, जिसके क्रम में यह भी चर्चा है कि यदि सिंहभूम (चाईबासा) सीट से सांसद गीता कोड़ा बीजेपी में जाती हैं, तो इस जमशेदपुर सीट में फेरबदल हो सकता है

कोल्हान में झामुमो-कांग्रेस की राजनीति गीता कोड़ा पर अटकी

ऐसी परस्थिति में कांग्रेस-झामुमो में दोनों सीटों को लेकर किसी तरह का समझौता हो सकता है वैसे सिंहभूम सीट पर अपना उम्मीदवार देने के लिए झामुमो विधायकों के साथ कार्यकर्ता बल लगाये हुए हैं, कोल्हान में झामुमो-कांग्रेस की पूरी राजनीति की सुई गीता कोड़ा पर टिकी है

2011 के उपचुनाव में जीते थे झाविमो के डॉ अजय कुमार

झामुमो को यदि जमशेदपुर लोकसभा सीट मिल, तो वह आस्तिक महतो उर्फ बाबू भाई को उम्मीदवार बना सकती है आस्तिक ने 2011 के उपचुनाव में आजसू के टिकट पर चुनाव लड़कर 80 हजार मत हासिल किये थे इस उपचुनाव में डॉ अजय कुमार को झाविमो के टिकट पर जीत मिली थी

झामुमो व्यस्त, तो कांग्रेस पार्टी ने मांगा आवेदन

झामुमो के नेता-कार्यकर्ता हेमंत सोरेन के कारावास जाने के बाद जहां लगातार आंदोलन-बैठक और नये मंत्रिमंडल आदि में ही व्यस्त हैं, वहीं जमशेदपुर में कांग्रेस पार्टी ने कार्यकर्ताओं से प्रत्याशियों के लिए आवेदन मांग कर सरगर्मी बढ़ा दी है

डॉ अजय कुमार ने भी भले ही अपना आवेदन जमा कर दिया है, लेकिन वह पूरी तरह से यहां एक्टिव नहीं दिख रहे हैं जमशेदपुर पश्चिम के विधायक सह मंत्री के साथ उनके संबंध सर्वविदित हैं, बावजूद इसके सबसे मजबूत दावेदारों में वही हैं यह भी चर्चा है कि झामुमो जमशेदपुर सीट छोड़ने को तैयार नहीं है

इस आधार पर जमशेदपुर लोकसभा सीट पर दावेदारी कर रहा झामुमो

झामुमो का दावा है कि जमशेदपुर की 6 लोकसभा में उसके पास 4 विधायक हैं, ऐसे में उन्हें सीट पर लड़ने का अधिकार है झामुमो के नेता-कार्यकर्ता हेमंत सोरेन के कारावास जाने के बाद जहां लगातार आंदोलन-बैठक और नये मंत्रिमंडल आदि में ही व्यस्त हैं, वहीं जमशेदपुर में कांग्रेस पार्टी ने कार्यकर्ताओं से प्रत्याशियों के लिए आवेदन मांग कर सरगर्मी बढ़ा दी है

डॉ अजय कुमार ने भी भले ही अपना आवेदन जमा कर दिया है, लेकिन वह पूरी तरह से यहां एक्टिव नहीं दिख रहे हैं जमशेदपुर पश्चिम के विधायक सह मंत्री के साथ उनके संबंध सर्वविदित हैं, बावजूद इसके सबसे मजबूत दावेदारों में वही हैं यह भी चर्चा है कि झामुमो जमशेदपुर सीट छोड़ने को तैयार नहीं है झामुमो का दावा है कि जमशेदपुर की छह लोकसभा में उसके पास चार विधायक हैं, ऐसे में उन्हें सीट पर लड़ने का अधिकार है

Related Articles

Back to top button