कोरोना वायरस : विद्यार्थी में ये लक्षण पाए जाने पर जिला अस्पताल में कराया गया भर्ती

कोरोना वायरस : विद्यार्थी में ये लक्षण पाए जाने पर जिला अस्पताल में कराया गया भर्ती

कोरोना वायरस (Coronavirus) के मद्देनजर सारे बलरामपुर (Balrampur) जिले में हाई अलर्ट कर दिया गया है। चाइना (China) से आने वाले मेडिकल (Medical Student) के एक विद्यार्थी में कुछ लक्षण पाए जाने पर उसे जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है।

 चाइना में कोरोना वायरस फैलने के बाद अभी तक जिले में कुल 9 लोगों के चाइना से आने की पुष्टि हुई है। यह सभी मेडिकल के विद्यार्थी हैं। ये चाइना में भिन्न-भिन्न स्थानों पर मेडिकल की पढ़ाई कर रहे थे।

चीन से अब तक 9 मेडिकल विद्यार्थी लौटे हैं
कोतवाली उतरौला क्षेत्र में 6, कोतवाली देहात क्षेत्र में दो व पचपेड़वा थाना क्षेत्र में एक युवक की चाइना से आने की पुष्टि हुई है। चाइना से आने वाले सभी मेडिकल के विद्यार्थियों का दिल्ली में भी स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया था। जिले में पहुंचने पर रैपिड रिस्पांस टीम ने भी इनका स्वास्थ्य परीक्षण किया। नेपाल सीमा से सटा होने के कारण विशेष सतर्कता बरती जा रही है। डीएम ने नेपाल सीमा से सटे सभी गांव के ग्राम प्रधानों को भी निर्देशित किया है कि सीमा पार से आने वाले लोगों पर कड़ी नजर रखें व उसकी सूचना लोकल थाने व स्वास्थ्य विभाग को भी दें।

सभी अस्पतालों में रैपिड रिस्पांस टीम तैनात

सीमा पार से आने वाले लोगों की चेकिंग के लिए सीमा से सटे चार विकास खंडों में चार मेडिकल टीमें बनाई गई हैं। सीमापार से आने वाले सभी नागरिकों का मेडिकल परीक्षण कराया जा रहा है।   जिला संयुक्त अस्पताल में कोरोना से प्रभावित मरीजों के लिए आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। इसके साथ ही नेपाल सीमा से सटे सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर रैपिड रिस्पांस टीम तैनात की गई हैं व सभी केंद्रों पर अलग वार्ड भी बनाए गए हैं।

सैंपल परीक्षण के लिए भेजा गया केजीएमयू: सीएमओ
इस विषय में मुख्य चिकित्सा ऑफिसर डॉ घनश्याम सिंह ने बताया कि जिस युवक को संयुक्त जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है, उसमें इन्फ्लूएंजा के कुछ लक्षण विद्यमान हैं। उसकी स्क्रीनिंग की जा रही है व सैंपल परीक्षण के लिए केजीएमयू को भेजा गया है।

कोरोना वायरस के मद्देनजर डीएम कृष्णा करुणेश ने बताया कि जिले के स्वास्थ्य विभाग को पूरी तरह सतर्क किया गया है। किसी भी आपात स्थिति से निपटने की तैयारी की गई है। उन्होंने बोला कि कोरोना वायरस को लेकर नेपाल की सीमा बहुत ज्यादा संवेदनशील है क्योंकि सीमा पार से आने वाले लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण अत्यंत महत्वपूर्ण है। इसके लिए मेडिकल की मोबाइल टीम भी तैनात की गई है। नेपाल की सीमा से चोरी-छिपे आने वाले लोगों पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है। डीएम ने बोला कि सभी ग्राम प्रधानों को भी आदेश दिया गया है कि वह अपने क्षेत्र में नेपाल से आने वाले सभी नागरिकों की जानकारी लोकल थाने व नजदीकी स्वास्थ्य केंद्रों पर अवश्य दें।