राष्ट्रीय

नहीं रहे महाराष्ट्र के ‘जोशी सर’, राजकीय सम्मान के साथ होगा इनका अंतिम संस्कार

मुंबई, 23 फरवरी (हि) समूचे महाराष्ट्र और सियासी हल्कों में ‘जोशी सर’ के नाम से विख्यात प्रदेश के पूर्व सीएम और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मनोहर जोशी (86 ) का आज (शुक्रवार) तड़के करीब तीन बजे माहिम स्थित हिंदुजा हॉस्पिटल में मृत्यु हो गया उन्हें गुरुवार शाम को हार्ट अटैक आने के बाद यहां भर्ती कराया गया था ‘जोशी सर’ का आखिरी संस्कार शाम को पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा

पिछले वर्ष मई में भी उन्हें स्वास्थ्य कारणों से इसी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था कुछ दिन बाद पता चला कि उन्हें ब्रेन ट्यूमर है उस समय उन्होंने रोग को मात दे दिया था जोशी का पार्थिव शरीर आज उनके आवास पर रखा जाएगा इसके बाद शिवाजी पार्क स्थित श्मशान घाट पर राजकीय सम्मान के साथ आखिरी संस्कार किया जाएगा

मनोहर जोशी का जन्म दो दिसंबर, 1937 को रायगढ़ जिले के नंदवी गांव में मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था उन्होंने मुंबई में शिक्षा ग्रहण की पढ़ाई पूरी करने के बाद मुंबई नगर निगम में कुछ समय तक जॉब की कुछ समय बाद बालासाहेब ठाकरे के नेतृत्व में शिवसेना से जुड़ गए ठाकरे के वह करीबियों में रहे

वह 1976 से 1977 तक मुंबई के मेयर रहे शिवसेना नेता मनोहर जोशी चार वर्ष (1995-1999) तक सीएम रहे पार्टी ने बीजेपी के साथ गठबंधन में पहली बार महाराष्ट्र में सत्ता हासिल की उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी गवर्नमेंट के दौरान लोकसभा अध्यक्ष (2002-2004) के रूप में कार्य किया वह कांग्रेस पार्टी के शिवराज पाटिल (1991-1996) के बाद इस प्रतिष्ठित पद को संभालने वाले राज्य के दूसरे आदमी बने जोशी मुंबई सेंट्रल संसदीय सीट से सांसद रह चुके हैं उन्होंने छह वर्ष तक राज्यसभा सदस्य के रूप में भी काम किया है पिछले कुछ समय से खराब स्वास्थ्य के चलते वह महाराष्ट्र की राजनीति से दूर थे

Related Articles

Back to top button