बिहारराष्ट्रीय

देश में राजनीतिक कारणों से हत्या की सबसे अधिक वारदात हुयी झारखंड में…

रांची, 5 दिसंबर (आईएएनएस) साल 2022 में राष्ट्र में सियासी कारणों से मर्डर की सबसे अधिक घटना झारखंड में हुई है यह तथ्य नेशनल अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की ओर से सोमवार को जारी किए आंकड़े में सामने आया है

क्राइम इन इंडिया-2022 रिपोर्ट के अनुसार पूरे राष्ट्र में सियासी कारणों से 59 हत्याएं हुईं सबसे अधिक 17 हत्याएं झारखंड में हुई हैं हैरत की बात यह कि इस रिपोर्ट के अनुसार सियासी वजहों से मर्डर की सबसे कम घटनाएं उत्तर प्रदेश, तेलंगाना और त्रिपुरा में रिकॉर्ड की गई हैं इन तीनों प्रदेशों में सियासी कारणों से मात्र एक-एक मर्डर का मुद्दा दर्ज किया गया

झारखंड के बाद बिहार और ओडिशा दोनों प्रदेशों में इस श्रेणी में आठ-आठ हत्याएं हुई हैं केरल में सात, आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु में चार-चार और कर्नाटक में इस तरह की दो हत्याएं हुईं पूरे राष्ट्र में विभिन्न वजहों से मर्डर की घटना के रिकॉर्ड पर नजर डालें तो इस सूची में झारखंड राष्ट्र में आठवें नंबर पर हैं यहां 2022 में मर्डर की कुल 1550 घटना सामने आईं

झारखंड में मर्डर की वजहों पर गौर करें तो सबसे अधिक 282 हत्या आपसी टकराव में हुए इसी तरह 228 हत्या प्रतिशोध की वजह से हुए राज्य में डायन करार देकर मार डालने और मानव बलि की कुल 33 घटनाएं बीते वर्ष सामने आईं

एनसीआरबी के आंकड़े के अनुसार, राज्य में बच्चों, बुजुर्गों और स्त्रियों के विरुद्ध होने वाले क्राइम में बढ़ोत्तरी हुआ है बच्चों के विरुद्ध क्राइम में साल 2021 की तुलना में 2.67 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है

2022 में दहेज प्रताड़ना के 1844 मुद्दे सामने आए जबकि, 2021 में ऐसे मामलों की संख्या 1796 थी सीनियर सिटिजन के विरुद्ध क्राइम के 62 मुद्दे दर्ज किए गए, जबकि इसके पहले के वर्ष में ऐसे 32 मुद्दे रिकॉर्ड किए गए थे साइबर अपराध का ग्राफ भी 2021 की तुलना में बढ़ा 2022 में इस श्रेणी में कुल 967 मुद्दे दर्ज किए गए, जबकि एक वर्ष पहले ऐसे 953 मुकदमा पुलिस के पास पहुंचे थे

Related Articles

Back to top button