इंडियन रेलवे वे ने लॉकडाउन के चौथे चरण के दौरान जारी किए यह बड़े दिशानिर्देश

इंडियन रेलवे वे ने लॉकडाउन के चौथे चरण के दौरान जारी किए यह बड़े दिशानिर्देश

इंडियन रेलवे वे (Indian Railway) लॉकडाउन के चौथे चरण (Lockdown 4.0) के दौरान श्रमिक स्पेशल (Shramik Special), अन्य विशेष रेलगाड़ियों, पार्सल सेवाएं व मालगाड़ियों का ही परिचालन होगा। 

सरकार ने चाथे चरण में लॉकडाउन को 31 मई तक के लिए बढ़ा दिया है। इंडियन रेलवे वे ने अपनी सभी नियमित यात्री ट्रेनों (Passengers Trains) के परिचालन पर 30 जून तक रोक लगा दी है। रेलवे ने बोला कि रेल परिचालन के विषय में लॉकडाउन के तीसरे चरण के दौरान जारी किए गए दिशानिर्देश यथावत लागू रहेंगे। तीसरा चारण रविवार 17 मई तक के लिए घोषित किया गया था।

15 जोड़ी रेलगाड़ियों का संचालन जारी रहेगा
देश में 25 मार्च से जारी लॉकडाउन के सभी चरणों के दौरान पार्सल सेवा व मालगाड़ियों का संचालन होता रहा। वहीं प्रवासी मजदूरों को उनके गृह प्रदेश तक ले जाने के लिए रेलवे ने एक मई से श्रमिक स्पेशल रेलगाड़ियां चलाना प्रारम्भ की। वहीं आम लोगों के लिए राजधानी एक्सप्रेस के मार्ग पर निश्चित दिशानिर्देशों के तहत 15 जोड़ी रेलगाड़ियों का संचालन कर रहा है।

रेल परिचालन के नियम में कोई परिवर्तन नहीं
इंडियन रेलवे के प्रवक्ता आर। डी। वाजपेयी ने कहा, रेल परिचालन में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। यह लॉकडाउन के तीसरे चरण के अनुरूप ही रहेगा। श्रमिक स्पेशल व 15 जोड़ी अन्य विशेष रेल चलती रहेंगी। वहीं पार्सल सेवा व मालगाड़ी भी चालू रहेगी।

टिकट बुकिंग के बदले नियम
इधर बेंगलुरू जाने वाली विशेष रेलगाड़ी के यात्रियों द्वारा क्वारंटाइन में जाने से इंकार करने के बाद आईआरसीटीसी ने फैसला किया है कि जो लोग गंतव्य राज्यों के क्वारंटाइन प्रोटोकॉल का पालन करने पर सहमत होंगे, उन्हें ही वह अपने पोर्टल पर टिकट बुक करने की अनुमति देगा। नया नियम इसकी वेबसाइट पर लिखा है जिसमें लिखा है, 'मैंने अपने गंतव्य प्रदेश की तरफ से जारी स्वास्थ्य परामर्श को पढ़ लिया है। मैं इसे स्वीकार करता हूं व इसका पालन करूंगा। ' इसमें यात्री को टिकट बुक करने के लिए 'मैं सहमत हूं' पर क्लिक करना होगा। दिल्ली से 14 मई को बेंगलुरू पहुंचे करीब 50 यात्रियों ने पृथक-वास केन्द्र में जाने से मना कर दिया व स्टेशन पर हंगामा किया जिसके बाद यह नियम बनाया गया है।