लोकसभा में राहुल गांधी का केंद्र पर निशाना: आपकी सरकार के पास किसानों की मौत का आंकड़ा नहीं, हमारे पास सभी के नाम

लोकसभा में राहुल गांधी का केंद्र पर निशाना: आपकी सरकार के पास किसानों की मौत का आंकड़ा नहीं, हमारे पास सभी के नाम

आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों को मुआवजा दिए जाने की मांग कर रहे विपक्ष की ओर से राहुल गांधी ने केंद्र पर निशाना साधा। संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान लोकसभा में राहुल गांधी ने कहा कि सरकार कह रही है कि उनके पास किसानों की मौत का कोई आंकड़ा नहीं है, लेकिन हमारे पास सभी के नाम हैं। इससे पहले राहुल गांधी ने किसानों को मुआवजा दिए जाने की मांग को लेकर लोकसभा में चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव नोटिस भी दिया था।

700 किसानों की हुई मौत 
राहुल गांधी ने लोकसभा में सवाल किया कि सरकार किसानों को मुआवजा दिए जाने के संबंध में क्या कर रही है? इस पर सरकार की ओर से कहा गया कि उनके पास कोई आंकड़ा नहीं है। इसके बाद राहुल गांधी ने कहा कि किसान आंदोलन में करीब 700 किसानों की मौत हुई है। प्रधानमंत्री ने किसानों और देश से माफी मांगी, उन्होंने स्वीकार किया कि उनसे गलती हुई है। इसके बाद भी आपकी सरकार कहती है कि उनके पास मृतक किसानों का कोई आंकड़ा नहीं है। पंजाब सरकार ने लगभग 400 किसानों के परिजनों को पांच लाख रुपये मुआवजा दिया है। इसमें 152 लोगों को रोजगार भी दिया गया है।

हमारे पास सभी के नाम
राहुल गांधी ने कहा कि हमने हरियाणा के 70 किसानों की सूची तैयार की है, इस सूची को भी मैं सरकार को उपलब्ध कराने के लिए तैयार हूं। आपके पास किसानों के नाम नहीं हैं, लेकिन हमारे पास सभी के नाम हैं। किसानों की सभी मांगे पूरी होने चाहिए, मृतक किसानों के परिजनों को मुआवजा मिलना चाहिए, उन्हें रोजगार और उनका हक भी मिलना चाहिए। 


असम-अरुणाचल सीमा पर चली गोलीबारी

असम-अरुणाचल सीमा पर  चली गोलीबारी

असम में धेमाजी जिले के गोगामुख में अरुणाचल प्रदेश से लगती सीमा के एक विवादित हिस्से पर सड़क निर्माण को लेकर स्थानीय लोगों के विरोध के बाद तनाव बढ़ गया, जिसके बाद एक ठेकेदार ने हवा में गोली चलाई। अधिकारियों ने यहां बृहस्पतिवार को यह जानकारी 

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह घटना बुधवार शाम उस वक्त हुई जब गोगामुख थाना क्षेत्र के हिम बस्ती इलाके में विवादित स्थल पर अरुणाचल प्रदेश सरकार द्वारा सड़क निर्माण कराया जा रहा था। उन्होंने कहा, ''असम के स्थानीय ग्रामीणों ने अरुणाचल प्रदेश सरकार द्वारा किये जा रहे सड़क निर्माण में बाधा डाली। जब ग्रामीण निर्माण स्थल पर विरोध करने पहुंचे तो ठेकेदार ने हवा में गोली चलाई।'' अधिकारी ने बताया कि गोली चलाने की घटना के बाद गुस्साई भीड़ ने काम को जबरन रुकवा दिया, कुछ वाहनों को नुकसान पहुंचाया तथा सड़क निर्माण दल के लिए बनाए गए अस्थायी शिविर में आग लगा दी। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, ''सूचित किये जाने के बाद असम पुलिस का एक दल मौके पर पहुंचा।

हम इलाके में गश्ती कर रहे हैं ताकि कोई अप्रिय घटना न हो।'' इस घटना के संदर्भ में अरुणाचल प्रदेश सरकार की कोई प्रतिक्रिया अभी नहीं प्राप्त हुई है। सीमा सड़क को लेकर यह झड़प असम और अरुणाचल प्रदेश के बीच 24 जनवरी को हुई बैठक के दो दिन बाद हुई। गत सोमवार को असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने सीमा विवाद पर चर्चा के लिए अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू के साथ बैठक की थी। भाषा सुरेश नीरज