दिल्ली-NCR के इन हिस्सों में हुई भारी बारिश, जाने जून के महीने में क्या रहेगा मौसम का हाल

दिल्ली-NCR के इन हिस्सों में हुई भारी बारिश, जाने जून के महीने में क्या रहेगा मौसम का हाल

दिल्ली-NCR के कुछ हिस्सों में रविवार प्रातः काल बारिश हुई. भारतीय मौसम विभाग के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केन्द्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बोला कि इस क्षेत्र में 15 जून तक लू चलने की आसार नहीं है. 

उन्होंने बोला कि 10 जून तक अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होगी किंतु 40 डिग्री सेल्सियस से नीचे बने रहने की उम्मीद है. बंगाल की खाड़ी के कम दबाव के चलते नमी से भरी पूर्वी हवाओं के कारण 12 जून व 13 जून को दिल्ली-एनसीआर में बारिश की आसार है. दिल्ली में रविवार को आंधी आने की आसार है व अधिकतम तापमान 37 डिग्री व न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा. वहीं शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अधिकतम तापमान 36.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से तीन डिग्री कम है. 

देश के कई हिस्सों में शनिवार को वर्षा हुई वहीं कुछ राज्यों में इस मौसम के हिसाब से अधिकतम तापमान सामान्य से कम दर्ज किया गया. मौसम विभाग ने बोला है कि अनुकूल परिस्थितियां मिलने के कारण दक्षिण पश्चिम मानसून आगे बढ़ रहा है. मौसम विभाग ने आगामी पांच दिनों के दौरान लू नहीं चलने का अनुमान जाहीर किया है. भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने अपने दैनिक राष्ट्रीय बुलेटिन में बोला कि गन्नवरम व विजयवाड़ा में (तटीय आंध्र प्रदेश) देश का सबसे अधिक तापमान 41.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

मुंबई का मौसम
मौसम विभाग के अनुसार रविवार को मुंबई में बादल छाए रहने के साथ ही हल्की से मध्यम बारिश या गरज के साथ बौछारें पड़ने की आसार है. मुंबई व इर्द-गिर्द के क्षेत्रों में शनिवार को मानसून पूर्व की वर्षा हुई । मौसम विभाग के कोलाबा केन्द्र ने शनिवार को पिछले 24 घंटों में प्रातः काल 8.30 बजे तक 18.6 मिमी बारिश जबकि सांताक्रूज़ मौसम ब्यूरो ने इसी अवधि के दौरान 64.9 मिमी वर्षा दर्ज की.

कोलकाता, हैदराबाद व पुणे में हुई बारिश
शनिवार को बेंगलुरु, हैदराबाद, चेन्नई, कोलकाता, हैदराबाद व पुणे के कुछ हिस्सों में भी बारिश हुई. मौसम विभाग ने बोला कि दक्षिण पश्चिमी मानसून दक्षिण हिंदुस्तान के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ रहा रहा है. कर्नाटक, तमिलनाडु, पुडुचेरी व बंगाल की खाड़ी के अधिकतर हिस्सों में अगले दो दिनों के दौरान दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए अनुकूल परिस्थितियां हैं.

जानें कैसा है उत्तर हिंदुस्तान में मौसम का हाल
विभाग के एक ऑफिसर के अनुसार उत्तर हिंदुस्तान में, राजस्थान के बाड़मेर, जैसलमेर, सीकर, अजमेर व कोटा में पिछले 24 घंटों में शनिवार शाम तक कई बार बारिश दर्ज की गई. शनिवार को राजस्थान की राजधानी जयपुर सहित कई हिस्सों में बादल छाए रहे, जिससे अधिकतर स्थानों पर अधिकतम तापमान में कुछ डिग्री की गिरावट दर्ज की गई. राजस्थान में चुरू 40.9 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे गर्म रहा. उसके बाद बीकानेर में अधिकतम तापमान 39.6 डिग्री, कोटा में 39.1 डिग्री, जैसलमेर व गंगानगर में 38.9 डिग्री, जोधपुर में 38.7 डिग्री, जयपुर में 37.7 डिग्री व अजमेर में 36.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में बाड़मेर, हनुमानगढ़, जैसलमेर, श्रीगंगानगर, अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बूंदी, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर व जयपुर सहित कई जिलों में बादल छाए रहने व तेज हवा चलने का अनुमान जताया है. उत्तरी राज्यों हरियाणा व पंजाब में अधिकतम तापमान सामान्य से नीचे बना रहा. दोनों राज्यों की राजधानी चंडीगढ़ में अधिकतम तापमान 32.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से छह डिग्री कम है.

हरियाणा के अंबाला में अधिकतम तापमान 34.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से पांच डिग्री कम है. करनाल में अधिकतम तापमान 33.5 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्य से छह डिग्री कम है. हिसार का अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस जबकि नारनौल में 33.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. पंजाब के अमृतसर में बारिश देखने को मिली व अधिकतम तापमान 29.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से 11 डिग्री कम है.