हरियाणा सरकार ने 50 हजार युवाओं को निजी सेक्टर में नौकरी देने का किया फैसला

हरियाणा सरकार ने 50 हजार युवाओं को निजी सेक्टर में नौकरी देने का किया फैसला

हरियाणा सरकार ने आगामी छह माह में 50 हजार युवाओं को निजी सेक्टर में नौकरी देने का लक्ष्य तय किया है. इसके साथ-साथ सरकार राज्य के काबिल युवाओं का चयन कर उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं की ऑनलाइन कोचिंग भी दिलवाने वाले है. इसके लिए राज्य गवर्नमेंट ने कुछ ऐसे ऑनलाइन वेबसाइट का चयन किया है, जो अच्छे स्तर की ऑनलाइन कोचिंग युवाओं को करवाते हैं.

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि प्रदेश गवर्नमेंट प्रतिभावान युवाओं के हुनर को ‘कॉरपोरेट सोशल रिस्पोंसिबिलिटी’(सीएसआर) की मदद से आगे बढ़ाने वाली है. जिसके तहत ऑनलाइन कोचिंग दिलाकर उनकी योग्यता एवं रुचि का तराशने की तैयारी की जा रही है. उन्होंने कहा कि प्राइवेट सेक्टर में आगामी 6 महीने में 50 हजार युवाओं को रोजगार दिलाने का लक्ष्य है. 

उपमुख्यमंंत्री ने कहा कि कई बार प्रतियोगी एक्जाम में कुछ युवा मात्र 1-2 अंकों के अंतर से उत्तीर्ण होने से वंचित रह जाते हैं. ऐसे युवा भी योग्य होते हैं. प्रदेश के इन प्रतिभावान युवाओं को तराशने व उनके जोश को सक्सेस में बदलने के लिए राज्य सरकार उनको कोचिंग देगी. डिप्टी सीएम ने बताया कि विश्व युवा कौशल दिवस के मौके पर 15 जुलाई को रोजगार विभाग के जिस ‘रोजगार पोर्टल’ एवं ‘कॉल-सेंटर’ का उघाट्न किया गया था. उसका बहुत अच्छा रिस्पांस आ रहा है. इस पोर्टल में राज्य के करीब 13 लाख बेरोजगार युवाओं का डाटा एकत्रित किया गया है. कॉल सेंटर के जरिए से वेबसाइट में पंजीकृत युवाओं से उनकी जॉब के लिए महकमें, सैलरी, स्थान आदि पर विचार जाने गए. इसमें करीब 1 लाख युवाओं से उनकी योग्यता पूछी गई, लगभग 30 हजार युवाओं ने अच्छी रुचि दिखाई, बस उन्हे मार्गदर्शन आवश्यकता है.