दिल्ली विधानसभा चुनाव : तीनो पोर्टिया कर रही है पूर्वांचली वोटरों को अपने पाले में लाने के लिए लगा रही है पुरजोर जान

दिल्ली विधानसभा चुनाव : तीनो पोर्टिया कर रही है पूर्वांचली वोटरों को अपने पाले में लाने के लिए लगा रही है पुरजोर जान

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 (Delhi Assembly Election 2020) में बादली विधानसभा सीट यादव वोटरों के साथ ही पूर्वांचल के वोटर्स का असर वाली सीट है। बादली सीट पर बीजेपी (BJP), आम आदमी पार्टी (AAP) व कांग्रेस पार्टी (Congress) तीनों पार्टियां पूर्वांचली वोटरों को अपने पाले में लाने के लिए जी जान से जुटीं हैं।

 AAP ने एक बार फिर से अपने मौजूदा विधायक अजेश यादव पर भरोसा जताया है। वहीं दूसरी तरफ बीजेपी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव 2015 के हारे हुए उम्मीदवार राजेश यादव को बदलकर विजय भगत को टिकट दिया है। लेकिन कांग्रेस पार्टी ने दोबारा अपने पुराने प्रत्याशी देवेंद्र यादव पर ही दांव लगाया है।

आपको बता दें कि पिछली बार दिल्ली विधानसभा चुनाव 2015 में AAP के उम्मीदवार अजेश यादव को कुल 72,795 वोट मिले थे। अजेश यादव ने बीजेपी के उम्मीदवार राजेश यादव को 35,376 वोटों के बड़े अंतर से हराया था। राजेश यादव को मात्र 37,419 वोट ही मिले थे।

बादली विधानसभा सीट के इतिहास की बात करें तो बादली सीट पर दिल्ली के पूर्ण प्रदेश बनने के बाद 1993, 1998 व 2003 में लगातार बीजेपी का अतिक्रमण रहा। इसके बाद 2008 व 2013 में दो बार कांग्रेस पार्टी ने बादली सीट पर जीत दर्ज की। दिल्ली विधानसभा चुनाव 2015 में पहली बार AAP ने बादली सीट पर जीत दर्ज की।