कोरोना वैक्सीन की पहली डोज के बाद हो जाए कोविड-19 तो डरे नहीं

कोरोना वैक्सीन की पहली डोज के बाद हो जाए कोविड-19 तो डरे नहीं

नई दिल्‍ली: कोविड-19 वायरस ( Covid-19 ) महामारी के शुरुआती दौर से ही इसकी पड़ताल जारी है लोगों को बचाने के लिए हिंदुस्तान और पूरे विश्व में लगातार अध्ययन हो रहे हैं जिनके नतीजे साइंस जर्नल और अन्य प्लेटफार्म पर प्रकाशित होते रहते हैं ऐसे में हाल ही में आई कुछ रिपोर्ट के अनुसार कोविड-19 वैक्सीन ( कोरोना वैक्सीन ) की पहली डोज लेने के बाद भी कुछ लोग कोविड-19 पॉजिटिव (Covid 19 Positive) हो रहे हैं मेडिकल एक्सपर्ट्स ने इसे ‘ब्रेकथ्रू केस’ नाम दिया है हालांकि अपने देश की बात करें तो इस मुद्दे में भारतीय लोग अधिक भाग्यशाली हैं क्योंकि हिंदुस्तान में ऐसे मुद्दे एकदम कम हैं  

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की स्डटी के अनुसार हिंदुस्तान में इस तरह के ‘ब्रेकथ्रू केस’ का आंकड़ा केवल 0.05 परसेंट ही है वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार यदि वैक्सीन की पहला डोज लगने के बाद कोई संक्रमित हो जाता है तो इसका ये मतलब नहीं है कि वो दूसरी डोज नहीं ले सकता है ऐसे लोगों को केवल इस बात का ध्यान रखना होगा कि दूसरी डोज का अंतराल संक्रमण से ठीक यानी कोविड निगेटिव होने के बाद कम से कम चार से आठ सप्ताह के बीच होना चाहिए

 

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार ऐसे लोग जिनमें कोविड-19 संक्रमण के सक्रिय लक्षण हों या वो लोग जिनके शरीर में Covid-19 के विरूद्ध एंटीबॉडी हो उनके लिए दूसरी डोज लगवाने से पहले 4 से 8 सप्ताह का गैप महत्वपूर्ण है वहीं प्लाज्मा ले चुके लोगों के साथ अधिक बीमार या फिर दूसरी रोंगों से ग्रस्त लोगों के लिए भी वैक्सीन की दूसरी डोज लेने में एक महीने से दो महीने का गैप रखा जाना चाहिए

दरअसल एक्सपर्ट्स का मानना है कि वैक्सीन की कार्यप्रणाली का भी अपना प्रभाव होता है सभी की सुरक्षा लगातार और बेहतर होती रहे इस पर अध्ययन जारी है   वैक्सीन की पहली डोज लेने ते बाद भी यदि कोविड-19 संक्रमण हो जाए तो इसमें घबराने की आवश्यकता नहीं है


पाकिस्तान : 13 साल की लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कर कराया गया निकाह

पाकिस्तान : 13 साल की लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कर कराया गया निकाह

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक लड़कियों के जबरन धर्म परिवर्तन के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। ताजा मामला एक 13 वर्षीय इसाई लड़की का है। लड़की के पिता का आरोप है कि एक मुस्लिम लड़के ने लड़की का अपहरण कर उसका जबरन धर्म परिवर्तन करवाया और फिर जबरदस्ती उससे शादी कर ली। यह घटना पाकिस्तान के गुजरांवाला शहर में हुई है। लड़की के पिता के अनुसार, अपहरणकर्ता एक मुस्लिम है जिसने लड़की से जबरदस्ती शादी कर ली।

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता के पिता अपने परिवार के लिए न्याय की मांग कर रहे हैं। आरिफ टाउन के एक दर्जी शाहिद गिल ने कहा कि उनके पड़ोसी ने उनकी 13 वर्षीय बेटी को उनकी मेकअप एक्सेसरीज की दुकान पर सेल्सगर्ल के रूप में काम पर रखने की पेशकश की थी। हालांकि गिल ने अपनी बेटी को दुकान पर काम पर भेजने से मना कर दिया था।

उन्होंने कहा कि अपहरणकर्ता लगातार उनसे मदद की मांग करता रहा। शाहिद ने कहा कि घर की स्थिति ठीक ना होने के कारण बाद में उन्होंने अपनी बेटी को पड़ोसी की दुकान पर काम करने की अनुमति दे दी। गिल ने कहा कि 20 मई को उनकी बेटी घर से गायब हुई थी बाद में पड़ोसियों से पता चला कि उन्होंने लड़की को अपहरणकर्ता और कुछ अन्य पुरुषों एवं महिलाओं के साथ पिकअप ट्रक पर जाते हुए देखा था।

उन्होंने बताया कि मामले की शिकायत वो फिरोजवाला पुलिस स्टेशन में करवा चुके थे और 29 मई को उस व्यक्ति और सात अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। जांच अधिकारी एसआइ लियाकत ने कहा कि दो संदिग्धों को हिरासत में ले लिया गया लेकिन बाद में लड़की एक स्थानीय अदालत में पेश हुई।

पुलिस अधिकारी के अनुसार, लड़की ने अदालत में कहा कि उसने स्वेच्छा से इस्लाम धर्म अपनाने और बाद में अनुबंधित विवाह करने के लिए अपना घर छोड़ा था। उन्होंने कहा कि अदालत ने लड़की को उसके कथित पति के साथ जाने की अनुमति दे दी थी और पुलिस को मामला रद्द करने का आदेश दिया था, जिसके बाद पुलिस ने अदालत के आदेश का पालन किया।

 
हालांकि, लड़की के पिता गिल ने कहा कि उसकी बेटी साढ़े 13 साल की है और इसलिए अदालत को उसके धर्मांतरण और स्वेच्छा से शादी करने के उसके बयान को स्वीकार नहीं करना चाहिए। 

गिल ने कहा कि वह व्यक्ति पहले से ही शादीशुदा था और उसके तीन बेटियां और एक बेटे सहित चार बच्चे हैं। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि उसकी बेटी को बहला-फुसलाकर उसका धर्म परिवर्तन कराया गया और उसकी मर्जी के खिलाफ शादी कर ली गई और हो सकता है कि लड़की ने ऐसा बयान दबाव में दिया हो। उन्होंने अधिकारियों से राष्ट्रीय डेटाबेस और पंजीकरण प्राधिकरण (नादरा) से उनकी बेटी की उम्र की पुष्टि करने और उन्हें न्याय प्रदान करने की मांग की।

 
अमेरिका स्थित सिंधी फाउंडेशन ने कहा है कि हर साल 12 से 28 साल की करीब 1,000 युवा सिंधी हिंदू लड़कियों का अपहरण किया जाता है, उनकी जबरन शादी की जाती है और उनका धर्म परिवर्तन कराया जाता है। पाकिस्तान ने कई मौकों पर राष्ट्र में अल्पसंख्यक समुदायों के हितों की रक्षा करने का वादा किया है। हालांकि, अल्पसंख्यकों पर बड़े पैमाने पर हमले एक अलग कहानी बयान करते हैं।


अमेरिका व ईयू के बीच सालों पुराना व्यापारिक विवाद खत्म, पुतिन से मुलाकात से पहले बाइडन का पक्ष मजबूत!       मध्य नेपाल में बाढ़ के कहर से एक की मौत, कई लोगों के लापता होने की आशंका       चीन के 28 लड़ाकू विमानों ने फिर ताइवान के एयरस्पेस में भरी उड़ान       ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में कोरोना वायरस के प्रकोप के बावजूद लोगों को शहर छोड़ने की मिली अनुमति       जरायल ने गाजा पर किए हवाई हमले, सेना ने पुष्टि कर कहा...       कैलिफोर्निया में वैक्सीन जैकपॉट, जानें दस विजेताओं को मिलेगी कितनी धनराशि       नासा के रोवर परसिवरेंस ने मार्स पर देखी धरती पर मौजूद वॉल्‍केनिक रॉक जैसी चट्टान       दस वर्ष बाद पहली बार आज मिलेंगे बाइडन और पुतिन, तनातनी के बीच जानें       अब तक चोरी की घटना का कोई सुराग नहीं,पीड़ित परिवार से मिलकर जिला प्रधान ने जाना हाल-चाल, शहर की विधि व्यवस्था पर एसपी से करूंगी बात: शालिनी       भारतीय मूल की सरला विद्या बनीं अमेरिका में संघीय जज, बाइडन ने किया मनोनीत       सरला से बढ़ा भारत का मान, बाइडन ने किया कनेक्टिकट राज्‍य का संघीय जज मनोनीत, जानें       बाइडन ने पुतिन को कहा था 'हत्‍यारा', जानें- जिनेवा में उनसे मुलाकात के पूर्व कैसे पड़े नरम, कही ये बात       अंतरिक्ष में Manned Mission को तैयार चीन, कल रवाना होंगे तीन एस्‍ट्रॉनॉट्स       रेडिएशन लीकेज से चीन का इनकार, कहा...       पाक सेना प्रमुख बाजवा ने अफगानिस्तान के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा पर ...       पाक की संसद में जमकर हुआ हंगामा, सत्तापक्ष और विपक्ष के सदस्यों ने एक दूसरे पर फेंके बजट के दस्तावेज       सिंध में पैसे देकर कोई कुछ भी कर सकता है, प्रांत में नहीं है सरकार जैसी कोई चीज- चीफ जस्टिस ऑफ पाकिस्‍तान       कुलभूषण जाधव मामले में इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने सुनवाई 5 अक्टूबर तक टाली       पाकिस्तान : 13 साल की लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कर कराया गया निकाह       फेक न्यूज प्रसारित करने वालों पर सीएम योगी सख्त, बोले- संप्रदायिक उन्माद फैलाने की कोशिश नहीं स्वीकार