कोरोना ने दिल्ली में तोड़े सारे रिकार्ड, मिली इतनी संक्रमित लोग , इतनी लोगो की हुई मौत

कोरोना ने दिल्ली में तोड़े सारे रिकार्ड, मिली इतनी  संक्रमित लोग , इतनी लोगो की हुई  मौत


बृहस्पतिवार को स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि इससे पहले 20 अप्रैल, 2021 को एक दिन में 28,359 लोग संक्रमित मिले थे। राजधानी में कोरोना का पहला मरीज 2 मार्च 2020 को मिला था लेकिन तब से लेकर अब तक पहली बार एक दिन में संक्रमित मिलने वालों की संख्या 29 हजार के करीब पहुंची है।

विभाग ने जानकारी दी है कि पिछले एक दिन में 98,832 नमूनों की जांच की गई। संक्रमण दर 29.21 रही। इस दौरान 22,121 मरीजों को छुट्टी भी दी गई। बीते 31 दिसंबर, 2021 तक दिल्ली में कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 25,107 थी जोकि बढ़कर 25,271 तक पहुंच गई है। संक्रमितों की कुल संख्या 16,46,583 हो चुकी है। इनमें से 15,27,152 मरीज ठीक हो चुके हैं। अभी दिल्ली में 94160 कोरोना मरीज उपचाराधीन हैं जिनमें से 2424 मरीजों का इलाज अस्पतालों में चल रहा है। 559 मरीजों को कोविड स्वास्थ्य केंद्र और 41 मरीजों का इलाज कोविड निगरानी केंद्रों में चल रहा है। इतना ही नहीं 62324 मरीजों का उपचार उनके घरों में चल रहा है।
98 मरीजों की स्थिति गंभीर
विभाग ने जानकारी दी है कि अस्पतालों में भर्ती मरीजों में से 98 की हालत गंभीर है जिन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है। इनके अलावा 768 मरीजों को ऑक्सीजन थेरेपी दी जा रही है, लेकिन 628 मरीजों में मॉडरेट लक्षण होने की वजह से उन्हें आईसीयू में रखा गया है। 55 मरीजों की रिपोर्ट अब तक नहीं आई है। इनके अलावा राजधानी में कोरोना के नए मामले बढ़ने की वजह से कंटेनमेंट जोन की संख्या भी बढ़कर 23997 तक पहुंच गई है। पिछले एक दिन में तीन हजार नए इलाके कंटेनमेंट जोन में शामिल किए गए हैं।
अब तक 1.17 करोड़ टीकाकरण
राजधानी में 1.17 करोड़ लोग दोनों खुराक लेकर टीकाकरण पूरा कर चुके हैं। इनके अलावा 4.02 लाख किशोरों ने वैक्सीन की पहली खुराक ले ली है। इनके अलावा 65128 स्वास्थ्य कर्मी, फ्रंटलाइन वर्कर और पहले से बीमार 60 वर्ष या उससे अधिक आयु वालों को एहतियाती खुराक भी मिल गई है।


असम-अरुणाचल सीमा पर चली गोलीबारी

असम-अरुणाचल सीमा पर  चली गोलीबारी

असम में धेमाजी जिले के गोगामुख में अरुणाचल प्रदेश से लगती सीमा के एक विवादित हिस्से पर सड़क निर्माण को लेकर स्थानीय लोगों के विरोध के बाद तनाव बढ़ गया, जिसके बाद एक ठेकेदार ने हवा में गोली चलाई। अधिकारियों ने यहां बृहस्पतिवार को यह जानकारी 

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह घटना बुधवार शाम उस वक्त हुई जब गोगामुख थाना क्षेत्र के हिम बस्ती इलाके में विवादित स्थल पर अरुणाचल प्रदेश सरकार द्वारा सड़क निर्माण कराया जा रहा था। उन्होंने कहा, ''असम के स्थानीय ग्रामीणों ने अरुणाचल प्रदेश सरकार द्वारा किये जा रहे सड़क निर्माण में बाधा डाली। जब ग्रामीण निर्माण स्थल पर विरोध करने पहुंचे तो ठेकेदार ने हवा में गोली चलाई।'' अधिकारी ने बताया कि गोली चलाने की घटना के बाद गुस्साई भीड़ ने काम को जबरन रुकवा दिया, कुछ वाहनों को नुकसान पहुंचाया तथा सड़क निर्माण दल के लिए बनाए गए अस्थायी शिविर में आग लगा दी। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, ''सूचित किये जाने के बाद असम पुलिस का एक दल मौके पर पहुंचा।

हम इलाके में गश्ती कर रहे हैं ताकि कोई अप्रिय घटना न हो।'' इस घटना के संदर्भ में अरुणाचल प्रदेश सरकार की कोई प्रतिक्रिया अभी नहीं प्राप्त हुई है। सीमा सड़क को लेकर यह झड़प असम और अरुणाचल प्रदेश के बीच 24 जनवरी को हुई बैठक के दो दिन बाद हुई। गत सोमवार को असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने सीमा विवाद पर चर्चा के लिए अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू के साथ बैठक की थी। भाषा सुरेश नीरज