राष्ट्रीय

कांग्रेस केरल में इतने लोकसभा सीटों पर लड़ेगी चुनाव

ऐसा लगता है कि केरल (Kerala) में कांग्रेस (Congress) नेता वामदलों से कोई समझौता करने के मूड में नहीं हैं। वालदलों के द्वारा राहुल गांधी को वायनाड सीट छोड़कर उत्तर भारत से चुनाव लड़ने की सलाह के बाद कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि पार्टी केरल में 16 लोकसभा सीटों पर चुनाव (Lok Sabha Elections 2024) लड़ेगी और विपक्षी गठबंधन ‘यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट’ (यूडीएफ) में सीटों के बंटवारे को अंतिम रूप दे दिया गया है। उसने कहा कि पार्टी अपने उम्मीदवारों के बारे में पहले से ही स्पष्ट है और उनके नामों की घोषणा जल्द ही की जाएगी।

कांग्रेस ने यह भी स्पष्ट किया कि गठबंधन में दूसरा सबसे बड़ा सहयोगी ‘इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग’ (आईयूएमएल) इस बार एक और लोकसभा सीट देने के संबंध में व्यावहारिक बाधाओं को लेकर संतुष्ट हो गया है। ये घोषणाएं यूडीएफ अध्यक्ष एवं नेता प्रतिपक्ष वी.डी. सतीशन ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में की। इस दौरान केरल प्रदेश कांग्रेस समिति (केपीसीसी) प्रमुख के सुधाकरण भी मौजूद रहे।उन्होंने कहा कि पिछले चुनावों की तरह आईयूएमएल आगामी लोकसभा चुनावों में दो सीट- मलप्पुरम और पोन्नानी से चुनाव लड़ेगी। केरल की 20 लोकसभा सीट में से कांग्रेस 16 पर, आईयूएमएल दो पर, केरल कांग्रेस (जे) एक पर और रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी (आरएसपी) एक सीट पर चुनाव लड़ेगी।  सतीशन ने कहा, ”यूडीएफ में हुई चर्चा के अनुसार कांग्रेस 16 सीट पर चुनाव लड़ेगी, आईयूएमएल मलप्पुरम और पोन्नानी से, आरएसपी कोल्लम से और केरल कांग्रेस (जे) कोट्टयम से चुनाव लड़ेगी।”  आईयूएमएल नेतृत्व ने हाल में कहा था कि उसने इस बार एक और लोकसभा सीट की मांग की है और वे अपने फैसले से पीछे नहीं हटेंगे। सतीशन ने इस बात को स्वीकार किया कि आईयूएमएल ने चर्चा के दौरान तीसरी सीट की मांग की थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी की भी राय है कि लीग इसकी हकदार है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि लेकिन आईयूएमएल नेतृत्व वर्तमान परिस्थितियों में अधिक सीट देने के संबंध में व्यावहारिक बाधाओं को लेकर संतुष्ट हो गया है।उन्होंने कहा, ” इसके बजाय कांग्रेस ने रिक्त होने वाली अगली राज्यसभा सीट आईयूएमएल को देने का फैसला किया है।” उन्होंने कहा कि घटक दलों के साथ चर्चा के दौरान यूडीएफ ने केरल की सभी 20 लोकसभा सीट जीतने की तैयारियों को आगे बढ़ाकर ‘इंडिया’ गठबंधन को मजबूत करने का फैसला किया।  सतीशन ने यह भी कहा कि केरल में राज्य सरकार और केंद्र सरकार के खिलाफ लोगों में गुस्सा है।  कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि विपक्ष के नेता और केपीसीसी प्रमुख पार्टी उम्मीदवारों के नाम अंतिम रूप देने के लिए जल्द ही नयी दिल्ली जाएंगे। उन्होंने बताया कि उम्मीदवारों की घोषणा राष्ट्रीय राजधानी में की जाएगी।

Related Articles

Back to top button