राहुल और प्रियंका के साथ साथ हिरासत में अधीर रंजन

राहुल और प्रियंका के साथ साथ हिरासत में अधीर रंजन

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी ने शुक्रवार को बोला कि महंगाई और बेरोजगारी के विरूद्ध प्रदर्शन (congress protest) के दौरान हिरासत में लिए गए उसके नेताओं को रिहा कर दिया गया है पार्टी महासचिव जयराम रमेश (Jairam Ramesh) ने ट्वीट कर कहा, ‘‘हिरासत में लिए जाने के करीब छह घंटे बाद रिहा किया गया है’’

कांग्रेस ने महंगाई, बेरोजगारी (Protest Against Inflation and Unemployment) और कई खाद्य वस्तुओं को GST (वस्तु एवं सेवा कर) के दायरे में लाए जाने के विरूद्ध शुक्रवार को प्रदर्शन किया, जिसके बाद पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा समेत कई नेताओं और 60 से अधिक सांसदों को हिरासत में ले लिया गया था

पार्टी नेताओं के साथ विरोध प्रदर्शन करने पर पुलिस ने 200 से अधिक कार्यकर्ताओं को भी हिरासत में लिया राहुल और प्रियंका के साथ साथ अधीर रंजन भी हिरासत में लिए गया था

कांग्रेस ने राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन की घोषणा की थी
कांग्रेस ने महंगाई और बेरोजगारी के विरूद्ध शुक्रवार को राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन की घोषणा की थी इसके अनुसार कांग्रेस पार्टी कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) के सदस्यों एवं पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की पीएम आवास का ‘घेराव करने’ की योजना थी पार्टी के कई नेता और कार्यकर्ता इसी के लिए कांग्रेस पार्टी मुख्यालय में जमा हुए थे

पार्टी के प्रदर्शन में शामिल हुए नेताओं ने काले रंग के कपड़े पहन रखे थे राहुल गांधी की प्रतिनिधित्व में कांग्रेस पार्टी सांसदों ने संसद भवन से राष्ट्रपति भवन के लिए मार्च निकाला हालांकि, पुलिस ने उन्हें बीच में ही रोक दिया और हिरासत में ले लिया

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा भी पीएम आवास के घेराव के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए ‘24 अकबर रोड’ स्थित कांग्रेस पार्टी मुख्यालय पहुंचीं, जहां से उन्हें हिरासत में ले लिया गया

काले रंग के कपड़े पहन कर पहुंची प्रियंका गांधी
काले रंग की सलवार-कमीज ओर दुपट्टा पहने प्रियंका पार्टी मुख्यालय के सामने पुलिस द्वारा लगाए गए अवरोधक को लांघकर दूसरी तरफ पहुंचीं और सड़क पर धरने पर बैठ गईं कुछ देर बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया इस दौरान कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं ने पीएम मोदी और गवर्नमेंट के विरूद्ध जमकर नारेबाजी की

संसद भवन से पार्टी सांसदों का मार्च प्रारम्भ होने से पहले कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी भी इसमें थोड़ी देर के लिए शामिल हुईं हिरासत में लिए जाने से पहले राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि राष्ट्र में लोकतंत्र की मर्डर की जा रही है

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘इस तानाशाह गवर्नमेंट को डर लग रहा है हिंदुस्तान के हालत से, कमरतोड़ महंगाई और ऐतिहासिक बेरोजगारी से, अपनी नीतियों से लाई बर्बादी से जो सच्चाई से डरता है, वो ही आवाज उठाने वालों को धमकाता है!’’