राष्ट्रीय

14 न्यूज़ एंकरों का बहिष्कार किए जाने के फैसले पर कांग्रेस पार्टी की हुई आलोचना

नई दिल्ली: I.N.D.I गठबंधन नेताओं द्वारा 14 न्यूज़ एंकरों का बहिष्कार किए जाने के निर्णय पर कांग्रेस पार्टी पार्टी को निंदा का सामना करना पड़ रहा है कई लोग इसे आपातकाल 2.0 बता रहे हैं टकराव बढ़ने के बाद कांग्रेस पार्टी ने डैमेज कंट्रोल करते हुए बोला है कि यह ‘स्थायी’ आह्वान नहीं है कांग्रेस पार्टी नेता पवन खेड़ा ने निर्णय को संदर्भित करने के लिए ‘बहिष्कार’, ‘ब्लैकलिस्ट’ और ‘प्रतिबंध’ शब्दों को खारिज करते हुए इसे ‘असहयोग आंदोलन’ का नाम दिया है उन्होंने बोला कि गठबंधन ने किसी पर प्रतिबंध नहीं लगाया है, विपक्ष ने “समाज में नफरत फैलाने वाले” किसी के साथ योगदान नहीं करने का निर्णय किया है

उन्होंने बीजेपी के प्रश्न का उत्तर देते हुए बोला कि, “हमने किसी पर प्रतिबंध नहीं लगाया है, बहिष्कार नहीं किया है या काली सूची में नहीं डाला है यह एक असहयोग आंदोलन है, हम समाज में नफरत फैलाने वाले किसी भी आदमी का योगदान नहीं करेंगे, वे हमारे शत्रु नहीं हैं” दरअसल, बीजेपी ने बोला था कि, ‘मीडिया के बजाय विपक्ष को राहुल गांधी पर प्रतिबंध लगाना चाहिए’ पवन खेड़ा ने बोला कि यदि उक्त मीडिया एंकरों को “यह एहसास होगा कि वे जो कर रहे हैं वह हिंदुस्तान के लिए अच्छा नहीं है”, तो वे फिर से उनके शो में भाग लेना प्रारम्भ कर देंगे क्योंकि “कुछ भी स्थायी नहीं है” हालाँकि, खेड़ा ने यह नहीं कहा कि, यह कौन तय करेगा कि, कोई देशहित में काम कर रहा है या नहीं ? क्या कांग्रेस पार्टी के समर्थन में बोलने को ही देशहित में माना जाएगा ?

इस बीच, असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने पूर्व पीएम इंदिरा गांधी के शासनकाल के दौरान आपातकाल (Emergency) की ओर इशारा करते हुए बोला कि “बहिष्कार और मीडिया सेंसरशिप का पता 1975 से लगाया जा सकता है” उन्होंने बोला कि, “यह नया नहीं है यह आपके लिए एक रिहर्सल है किसी भी कारण से, यदि कांग्रेस पार्टी गवर्नमेंट सत्ता में आती है, तो मीडिया सेंसर हो जाएगा, लेकिन ISRO ने ठीक समय पर चंद्रयान बनाया है मैं पूरी कांग्रेस पार्टी को भेजूंगा” सरमा ने बोला कि, ”पार्टी चांद पर जाएगी, वहां गवर्नमेंट बनाएगी, यह बचकाना है” वहीं, बीजेपी ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर एक तस्वीर साझा की, जिसमें पूर्व पीएम इंदिरा गांधी और राहुल गांधी साफ रूप से प्रेस पर धावा करते और प्रेस को रोकते हुए दिखाई दे रहे हैं बीजेपी ने इसके कैप्शन में लिखा है कि, “I.N.D.I. गठबंधन लोकतंत्र के लिए ख़तरा है!”

 

Related Articles

Back to top button