कोरोना वायरस के दौरान एक समीक्षा मीटिंग के बाद सीएम पिनाराई विजयन ने बोली यह बड़ी बात

 कोरोना वायरस के दौरान एक समीक्षा मीटिंग के बाद सीएम पिनाराई विजयन ने बोली यह बड़ी बात

महाराष्ट्र व तमिलनाडु के लोगों की वापसी के कारण केरल (Kerala) पिछले 20 दिनों में मामलों में लगातार तेजी के साथ फैले समुदाय के कगार पर है।   प्रदेश में गुरुवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के एक दिन में सर्वाधिक 84 नए मुद्दे सामने आये,

जिसके साथ ही प्रदेश में इससे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 1,088 हो गई। वहीं, एक समीक्षा मीटिंग के बाद सीएम पिनाराई विजयन (Pinarayi Vijayan) ने मीडिया से बोला कि प्रदेश संक्रमण के सामुदायिक प्रकोप के कगार पर है।

पिनराई विजयन ने कहा, 'इस स्तर पर हम यह नहीं कह सकते कि केरल में कोविद -19 का सामुदायिक प्रसार हो गया है, लेकिन प्रदेश इसके कगार पर खड़ा है। कोरोना मामलों की संख्या में वृद्धि हुई है। उनमें से ज्यादातर केरल के बाहर से हैं। '  उन्होंने बोला कि यह एक सकारात्मक इशारा है कि हम अभी भी संक्रमण को प्रबंधित कर सकते हैं। ठंड व फ्लू वाले सभी मामलों का कोविड-19 टेस्ट होगा।

सीएम पिनराई विजयन ने लोगों को सामुदायिक संक्रमण के प्रति चेताया था व बोला था कि जो लोग निगरानी में हैं , अगर वह स्वास्थ्य दिशा-निर्देश का पालन नहीं करते हैं तो परेशानी आयेगी।  हम यह नहीं कह सकते हैं कि ऐसा कभी नहीं होगा

विजयन ने कहा, ‘प्रदेश में अब तक सामुदायिक संक्रमण का प्रसार नहीं हुआ है। लेकिन हम यह नहीं कह सकते हैं कि ऐसा कभी नहीं होगा। ’ उन्होंने बोला कि प्रदेश में अभी 526 लोगों का उपचार चल रहा है व 1.15 लाख लोगों को निगरानी में रखा गया है। विजयन ने बोला कि ताजा मामलों में से 31 विदेश से आये हैं व 48 दूसरे राज्यों महाराष्ट्र, तमिलनाडु और कर्नाटक से आये हैं।

सीएम ने बताया कि पांच आदमी संक्रमित लोगों के सम्पर्क में आने के कारण संक्रमण का शिकार हुए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि आज तीन लोगों को उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बोला कि आशा थी, क्योंकि पॉजिटिव मामलों की दर कम है। 26 मई तक उड़ानों व जहाजों द्वारा विदेश से केरल आए 10,000 लोगों में से केवल 1% ही पॉजिटिव पाए गए। सूत्रों ने बोला कि महाराष्ट्र से लौटे 1,000 लोगों में से नौ लोग व तमिलनाडु से लौटे 1,000 में से 3 कोरोना पॉजिटिव पाए गए।