एम्स(अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान) ऋषिकेश में पिछले 24 घंटे में इतने सैंपल मिले कोविड पॉजिटिव

एम्स(अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान) ऋषिकेश में पिछले 24 घंटे में इतने सैंपल मिले कोविड पॉजिटिव

एम्स(अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान) ऋषिकेश में पिछले 24 घंटे में तीन व्यक्तियों के सैंपल कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं. इसमें दो मृतक मरीजों की रिपोर्ट आज पॉजिटिव आई है.


एम्स के जनसंपर्क अधिकारी, हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि गाड़ी घाट, कोटद्वार, पौड़ी गढ़वाल निवासी 61 वर्षीय आदमी का सैंपल बीती 11 जून को लिया गया था. मरीज को एम्स ऋषिकेश में 10 जून को बुखार की शिकायत के चलते भर्ती कराया गया था. साथ ही मरीज को कोरोनरी आर्टरी डिजीज व हाइपरटेंशन की शिकायत भी थी. 13 जून की देर रात को मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, जबकि 12 जून को ही उपचार के दौरान इनकी मौत हो गई थी. 

वहीं, मुजफ्फरनगर, यूपी की 42 वर्षीया महिला 13 जून की प्रातः काल एम्स की इमरजेंसी में आई थी. बेहोशी की हालत में आई महिला का 13 जून को ही कोविड सैंपल ले लिया गया था. लेकिन मरीज के तीमारदार डॉक्टरों की सलाह के खिलाफ मरीज को वापस घर ले गए. 13 जून की रात को जब उनका सैंपल पॉजिटिव आया, तो इस मामले में मरीज के घर वालों को सम्पर्क कर अवगत कराया गया. लेकिन तब मरीज की मौत उसके घर पर ही हो चुकी थी.

उधर, रामपुर, यूपी का 23 वर्षीय युवक 13 जून को रामपुर से ऋषिकेश आया था. वह उसी दिन से एक अस्पताल में क्वारंटीन था. उसका सैंपल 13 जून को लिया गया था जो कि देर रात को पॉजिटिव पाया गया है. 

कोरोना संक्रमित के दाह संस्कार के लिए हर जिले में चिन्हित होंगे मैैदान

कोरोना संक्रमित मरीज की मृत्यु होने पर उनके दाह संस्कार के लिए प्रत्येक जिले में अलग से मैदान चिन्हित किए जाएंगे. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी जिलों को आदेश जारी किए गए हैं. जिलाधिकारी अपने स्तर पर दाह संस्कार मैदान का चयन करेंगे. 

आज आए दो मामलों को मिलाकर प्रदेश में अब तक 25 कोरोना संक्रमित मरीजों की मृत्यु हो चुकी है. संक्रमितों के दाह संस्कार में विरोध को लेकर सरकार को लगातार शिकायत मिली है. शनिवार को सरकार ने केन्द्र सरकार की ओर जारी गाइडलाइन भी जारी की है. 

जिसके अनुसार कोरोना संक्रमित मरीज के मृत शरीर को परिजनों को नहीं सौंपा जा सकता है. लेकिन परिजनों को बिना मृत शरीर को छूए देखने व संस्कार की अन्य गतिविधियां करने की इजाजत है. मृत शरीर को लेकर जाने व दाह संस्कार प्रशिक्षण ग्राउंड कर्मियों के माध्यम से किया जाएगा. जिन्हें पीपीई किट पहनना जरूरी होगा. स्वास्थ्य विभाग ने सभी जिलों को आदेश दिए हैं कि कोरोना संक्रमित मरीजों की मृत्यु होने पर दाह संस्कार के लिए अलग से मैदान चिन्हित करें.

प्रत्येक जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की मृत्यु होने पर उनके दाह संस्कार के लिए अलग से मैदान चिन्हित करने के आदेश जिलाधिकारियों को दिए गए हैं.